• पुलिस का सड़कों पर उतरना, भाजपा का नया भारत: सुरजेवाला

रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पुलिस का प्रदर्शन- 72 वर्षों में यह एक नई गिरावट है।’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘‘ क्या यह है भाजपा का ‘नया भारत’? भाजपा देश को कहां ले जाएगी?

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में पुलिस का सड़कों पर प्रदर्शन करना भारत के लिए स्वतंत्रता के 72 वर्षों में एक ‘नई गिरावट’ है। पार्टी ने इस मुद्दे पर गृह मंत्री अमित शाह की चुप्पी पर भी सवाल उठाए। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि क्या यह है भाजपा का ‘नया भारत’। उन्होंने पूछा कि सत्तारूढ़ दल देश को कहां ले जा रहा है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय के अधीन आने वाली दिल्ली पुलिस आईटीओ स्थित पुलिस मुख्यालय के बाहर सड़कों पर प्रदर्शन कर रही है और गृह मंत्री अमित शाह और गृह मंत्रालय इस बारे में कुछ नहीं कर रहा।

इसे भी पढ़ें: पुलिस-वकील विवाद मामले में बोली कांग्रेस, यह भारत के लिए एक नई गिरावट है

सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पुलिस का प्रदर्शन- 72 वर्षों में यह एक नई गिरावट है।’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘‘ क्या यह है भाजपा का ‘नया भारत’? भाजपा देश को कहां ले जाएगी? भारत के गृह मंत्री अमित शाह कहां हैं?’’ उन्होंने आरोप लगाया कि एक ओर तो वकीलों को गोली मारी जा रही है और उनकी पिटाई की जा रही है, वहीं दूसरी ओर पुलिस की पिटाई हो रही है। सुरजेवाला ने पूछा, ‘‘कानून-व्यवस्था की और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के नागरिकों की रक्षा कौन करेगा। क्या यह वही नया भारत है जिसके बारे में भाजपा बात किया करती थी।’’

इसे भी पढ़ें: आखिर कहां जाते हैं राहुल गांधी, विदेश दौरे पर कांग्रेस ने दिया ये जवाब

उन्होंने कहा, ‘‘कहां हैं गृह मंत्री अमित शाह। कृपया सामने आएं और बताएं कि आप यह कैसे सुनिश्चित करेंगे कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कानून-व्यवस्था कायम रहे और पूरे मामले को विधि सम्मत तरीके के अनुसार सुलझाया जाए।’’ पार्टी के प्रवक्ता आरपीएन सिंह ने कहा, ‘‘यह अभूतपूर्व है। अगर कानून प्रवर्तन एजेंसियां ही सड़कों पर उतर आई हैं तो आम आदमी का क्या होगा?’’ उन्होंने कहा कि जब भी भाजपा सत्ता में आती है तो ऐसी घटनाएं होती हैं। वकीलों के साथ झड़प के दौरान पुलिसकर्मियों पर हुए हमले के विरोध में मंगलवार को सैकड़ों पुलिसकर्मियों ने यहां पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।गौरतलब है कि शनिवार को यहां तीस हजारी अदालत परिसर में वकीलों और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी। इस दौरान कम से कम 20 पुलिसकर्मी और कई वकील घायल हो गए थे। कई वाहनों में तोड़फोड़ की गई या उनमें आग लगा दी गई।