अलीगढ़ में महिला बनी मिसाल, आरोपी के परिवार को भीड़ के गुस्से से बचाया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 10 2019 3:21PM
अलीगढ़ में महिला बनी मिसाल, आरोपी के परिवार को भीड़ के गुस्से से बचाया
Image Source: Google

उन्होंने यहां मीडिया से कहा, ‘‘अगर पूजा हमलावरों और हमारे बीच नहीं आती तो, उन लोगों ने हमें मार ही दिया होता।’’ सिविल लाइन्स पुलिस थाना में दर्ज शिकायत के अनुसार वाहन में कुछ महिलाएं बुर्का पहने हुई थीं, जिससे भीड़ उनके पास आ गई।

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में दो साल की एक बच्ची का क्षत-विक्षत शव मिलने से फैले तनाव के बीच एक महिला ने एक मुस्लिम परिवार को भीड़ के गुस्से से बचा लिया। पुलिस ने बताया कि यह घटना यहां से करीब 40 किलोमीटर दूर जट्टारी क्षेत्र की है। हरियाणा के बल्लभगढ़ से एक परिवार एक समारोह में शामिल होने के लिए वाहन से जा रहा था। उनके साथ उनकी पारिवारिक मित्र पूजा चौहन भी थी। कार में यात्रा करने वाले शफी मोहम्मद अब्बासी ने बताया कि मोटरसाइकिल पर सवार कुछ लोगों ने लोहे की रॉड से उनके वाहन पर हमला किया।

इसे भी पढ़ें: ऐसा ही माहौल रहा तो हर लड़की कहेगी, अगले जनम मोहे बिटिया न कीजो

उन्होंने यहां मीडिया से कहा, ‘‘अगर पूजा हमलावरों और हमारे बीच नहीं आती तो, उन लोगों ने हमें मार ही दिया होता।’’ सिविल लाइन्स पुलिस थाना में दर्ज शिकायत के अनुसार वाहन में कुछ महिलाएं बुर्का पहने हुई थीं, जिससे भीड़ उनके पास आ गई। अब्बासी ने बताया कि पूजा ने हमलावरों से कहा, ‘‘नन्ही बच्ची की हत्या से हम भी स्तब्ध हैं। आप अपना गुस्सा बेगुनाह लोगों पर क्यों उतार रहे हैं।’’

इसे भी पढ़ें: टप्पल में आरोपियों के खिलाफ फांसी की मांग लिए सड़कों पर उतरे लोग, 1200 पुलिसवाले तैनात



उन्होंने बताया कि पूजा की बात सुन कर उनमें से एक व्यक्ति थोड़ा नरम पड़ा और उसने कार की चाबी थमाते हुए कहा कि यहां से तुरंत निकल जाओ। कांग्रेस नेता हाजी जमीरूल्ला खान इस परिवार को पुलिस थाने ले गए और उन्होंने पूजा को रोल मॉडल बताया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने पीटीआई-भाषा से कहा कि किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं है। इस सिलसिले में मामला दर्ज कर लिया गया है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video