राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति समेत कई नेताओं ने देशवासियों को दी ओणम की शुभकामनाएं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2020   10:51
राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति समेत कई नेताओं ने देशवासियों को दी ओणम की शुभकामनाएं

उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने भी देशवासियों को ओणम की शुभकामनाएं दी और इस त्योहार के सभी के जीवन में शांति, समृद्धि और खुशी लाने की कामना की।

नयी दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को देशवासियों को ओणम की शुभकामनाएं देते हुए एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने लिखा कि ओणम का त्योहार हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक है। साथ ही, यह नई फसल के आगमन पर प्रकृति के प्रति कृतज्ञता भाव दर्शाने का अवसर भी है। इस मौके पर हम जरूरतमंद लोगों की सहायता करें व कोविड-19 की रोकथाम के लिए सभी दिशा-निर्देशों का पालन करें। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी ने देशवासियों को दी ओणम की बधाई, कहा- इसमें मनाया जाता है सद्भाव का उत्सव 

उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने भी देशवासियों को ओणम की शुभकामनाएं दी और इस त्योहार के सभी के जीवन में शांति, समृद्धि और खुशी लाने की कामना की। केरल के शासक एवं महाराजा महाबली की याद में ओणम का त्यौहार मनाया जाता है। उप राष्ट्रपति सचिवालय ने नायडू के हवाले से ट्वीट किया, ‘‘ इस ओणम पर, आइए हम अपने आप को ईमानदारी, अखंडता, करुणा, निस्वार्थता और बलिदान के मूल्यों की याद दिलाएं, जिसका महान महाराजा महाबली ने समर्थन किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ यह त्योहार सभी के जीवन में शांति, समृद्धि और खुशी लाएं। 

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर बोले नायडू, महामारी ने शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत होने की जरूरत फिर बताई 

ओणम के मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि सभी को इस त्यौहार की शुभकामनाएं। मैं कामना करता हूं कि ओणम का यह पर्व सभी के लिए अच्छा स्वास्थ्य, खुशहाली और समृद्धि लेकर आए।  





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।