PM मोदी के न्यू इंडिया के फ्यूचर प्लान की कहानी, राष्ट्रपति की जुबानी

By अभिनय आकाश | Publish Date: Jun 20 2019 10:50AM
PM मोदी के न्यू इंडिया के फ्यूचर प्लान की कहानी, राष्ट्रपति की जुबानी
Image Source: Google

आज से ही राज्यसभा का सत्र भी शुरू हो जाएगा जो 26 जुलाई तक चलेगा। बता दें कि 17 जून को शुरू हुए इस सत्र के शुरुआती दो दिनों में सांसदों ने शपथ ली और बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव हुआ।

नई दिल्ली। कैसा होगा पीएम नरेंद्र मोदी सरकार पार्ट-2 का शासन? इसकी झलक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने अभिभाषण के जरिए दी। संसद भवन के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संयुक्त सत्र को संबोधित किया। जिसमें सरकार की नीतियों, प्राथमिकताओं और योजनाओं की रुपरेखा बताते हुए लोकसभा के लिए निर्वाचित सांसदों को बधाई दी। कोविंद ने कहा कि 61 करोड़ से ज्यादा मतदाताओं ने कीर्तिमान स्थापित किया। महिलाओं ने पहले के मुकाबले ज्यादा मतदान किया। युवाओं ने भविष्य के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। राष्ट्रपति ने लोकसभा के नए अध्यक्ष ओम बिड़ला को भी बधाई दी। राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि इस बार 78 महिला सांसदों का चुना जाना नए भारत के तस्वीर प्रस्तुत करता है।

इसे भी पढ़ें: सर्वसम्मति से लोकसभा के नए अध्यक्ष चुने गए ओम बिरला

राष्ट्रपति के संबोधन के बाद संसद का सत्र शुरू होगा। इसी सत्र में सरकार बजट पेश करने वाली है। आज से ही राज्यसभा का सत्र भी शुरू हो जाएगा जो 26 जुलाई तक चलेगा। बता दें कि 17 जून को शुरू हुए इस सत्र के शुरुआती दो दिनों में सांसदों ने शपथ ली और बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव हुआ। 

इसे भी पढ़ें: एक राष्ट्र, एक चुनाव का ज्यादातर पार्टियों ने किया समर्थन: सरकार

कब-कब होता है राष्ट्रपति का अभिभाषण


संविधान की धारा 87 के तहत ऐसे दो मौके आते हैं जब राष्ट्रपति दोनों सदनों को संयुक्त रूप से संबोधित करते हैं। पहला मौका हर आम चुनाव के बाद संसद के सत्र की शुरुआत में राज्य सभा और लोकसभा को संयुक्त रूप से संबोधित करते हैं। इसके अलावा राष्ट्रपति हर साल संसद की पहली बैठक को संयुक्त रूप से संबोधित करते हैं। आम तौर पर बजट सत्र ही साल का पहला सत्र होता है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप