प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शिवमोगा विस्फोट की घटना पर दुख जताया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   11:16
  • Like
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शिवमोगा विस्फोट की घटना पर दुख जताया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कर्नाटक के शिवमोगा जिले में विस्फोट से हुए जानमाल के नुकसान पर शुक्रवार को दुख जताया और कहा कि राज्य सरकार प्रभावितों को हरसंभव मदद पहुंचा रही है।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कर्नाटक के शिवमोगा जिले में विस्फोट से हुए जानमाल के नुकसान पर शुक्रवार को दुख जताया और कहा कि राज्य सरकार प्रभावितों को हरसंभव मदद पहुंचा रही है। शिवमोगा जिले में ट्रक में भरकर ले जाए जा रहे विस्फोटक में बृहस्पतिवार रात धमाका हो गया था जिससे कम से कम छह लोगों की मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें: पत्रकारों और मीडियाकर्मियों को नि:शुल्क कोरोना टीका लगाने कमलनाथ ने की मांग

धमाका इतना तेज था कि पास के चिक्कमगलुरु और दावणगेरे जिलों में भी झटके महसूस किए गए। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से किए गए एक ट्वीट में मोदी ने कहा, ‘‘शिवमोगा में जानमाल को हुए नुकसान से मैं दुखी हूं। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। राज्य सरकार प्रभावितों तक हरसंभव मदद पहुंचा रही है।’’ माना जा रहा है कि विस्फोटक खनन के उद्देश्य से ले जाए जा रहे थे। विस्फोट से ट्रक के परखच्चे उड़ गए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


आरएसएस कर्मी की हत्या मामले में एसडीपीआई के आठ कार्यकर्ता गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2021   13:56
  • Like
आरएसएस कर्मी की हत्या मामले में एसडीपीआई के आठ कार्यकर्ता गिरफ्तार

सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के आठ कार्यकर्ताओं को अलप्पुझा जिले में आरएसएस कर्मी की हत्या के मामले में हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

अलप्पुझा (केरल)। सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के आठ कार्यकर्ताओं को अलप्पुझा जिले में आरएसएस कर्मी की हत्या के मामले में हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि अलप्पुझा में चेर्थला के पास नगमकुलनगर इलाके में आरएसएस और एसडीपीआई के बीच हुई झड़प में संघ के कार्यकर्ता नंदू (23) की बुधवार रात मौत हो गई थी। पुलिस ने बताया कि झड़प में आरएसएस और एसडीपीआई के कम से कम छह कार्यकर्ता घायल हुए भी थे। उन्हें अलप्पुझा एवं एर्नाकुलम के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

इसे भी पढ़ें: स्वतंत्र मीडिया फोटोग्राफरों को भारत इंग्लैंड क्रिकेट सीरीज की कवरेज से रोका

उन्होंने बताया कि आरएसएस के एक घायल कार्यकर्ता की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। भाजपा अपने कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा के विरोध में जिले में सुबह से शाम तक हड़ताल कर रही है। रिपोर्टों के अनुसार, कासरगोड से तिरुवनंतपुरम तक भाजपा की विजय यात्रा की शुरुआत के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की केरल यात्रा के विरोध में एसडीपीआई ने हाल में एक मार्च निकाला था, जिसके बाद से इलाके में तनाव बढ़ गया है। एसडीपीआई के कार्यक्रम के बाद से दोनों समूहों ने इलाके में विरोध मार्च निकाले हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने पुडुचेरी को दी विभिन्न विकास परियोजनाओं की सौगात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2021   13:39
  • Like
विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने पुडुचेरी को दी विभिन्न विकास परियोजनाओं की सौगात

प्रधानमंत्री ने इस दौरान सागरमाला योजना के तहत माइनर बंदरगाह का शिलान्यास किया तथा राष्ट्रीय राजमार्ग 45-ए को चार लेन में परिवर्तित किए जाने और कराईकल जिले में मेडिकल कॉलेज भवन के नए परिसर के निर्माण की आधारशिला रखी।

पुडुचेरी। आगामी विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को केंद्र शासित क्षेत्र पुडुचेरी को विभिन्न विकास परियोजनाओं की सौगात दी। प्रधानमंत्री ने इस दौरान सागरमाला योजना के तहत माइनर बंदरगाह का शिलान्यास किया तथा राष्ट्रीय राजमार्ग 45-ए को चार लेन में परिवर्तित किए जाने और कराईकल जिले में मेडिकल कॉलेज भवन के नए परिसर के निर्माण की आधारशिला रखी। राष्ट्रीय राजमार्ग 45-ए के तहत विल्लुपुरम से नागपट्टिनम परियोजना का 56 किमी लंबा सतनाथपुरम-नागापट्टिनम मार्ग आएगा।इस परियोजना पर लगभग 2426 करोड़ रुपये खर्च आएगा।

इसे भी पढ़ें: पेट्रोल, डीजल के दाम में कमी के लिये केन्द्र, राज्यों के बीच समन्वित प्रयास की जरूरत: दास

पुडुचेरी में माइनर पोर्ट पर 44 करोड़ खर्च होने का अनुमान है। इन परियोजनाओं के अलावा प्रधानमंत्री ने यहां स्थित इंदिरा गांधी खेल परिसर में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक का शिलान्यास किया। मौजूदा 400 मीटर की सिंडर ट्रैक सतह पुरानी और चलन से बाहर हो गई है। इस परियोजना पर 7 करोड़ रुपये खर्च आएगा। प्रधानमंत्री ने यहां के जवाहरलाल इंस्टिट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (जेआईपीएमईआर) में ब्लड सेंटर का उद्घाटन किया। इसे 28 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित किया गया है। उन्होंने यहां के लॉस्पेट इलाके में 100 बिस्तर वाले गर्ल्स हॉस्टल का भी उद्घाटन किया।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र में बढ़ रहा कोरोना का कहर! कोविड-19 के 614 नए केस, पांच और लोगों की मौत

भारतीय खेल प्राधिकरण के तत्वावधान में लगभग 12 करोड़ रुपये की लागत से इसे महिला एथलीटों के लिए बनाया गया है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने पुनर्निर्मित हेरिटेज मैरी बिल्डिंग का भी उद्घाटन किया। मैरी बिल्डिंग को फ्रांसिसियों ने बनाया था और अब इसे लगभग 15 करोड़ रुपये की लागत से उसी वास्तुकला के साथ पुनर्निर्मित किया गया है। पिछले तीन सालों में प्रधानमंत्री का यह पुडुचेरी का दूसरा दौरा है। इससे पहले 2018 में उन्होंने निकटवर्ती विल्लुपुरम जिले में ऑरोविले अंतरराष्ट्रीय परियोजना का दौरा किया था और इस दौरान एक जनसभा को भी संबोधित किया था। प्रधानमंत्री का यह दौरा ऐसे समय में हुआ है जब प्रदेश का राजनीतिक माहौल पूरी तरह बदला हुआ है।

कांग्रेसनीत राज्य सरकार के अल्पमत में आने के बाद वी नारायणसामी ने 22 फरवरी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। उनके इस्तीफे के बाद किसी भी राजनीतिक दल ने सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार कोपुडुचेरी में राष्ट्रपति शासन लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। राष्ट्रपति की इस प्रस्तावको स्वीकृतिके साथ यहां विधानसभा भंग हो जाएगी। पुडुचेरी में इसी साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


मुजफ्फरनगर के ग्रामीणों ने कहा- RLD से कोई लेना-देना नहीं, बीजेपी को दे रहे हैं वोट

  •  अभिनय आकाश
  •  फरवरी 25, 2021   13:35
  • Like
मुजफ्फरनगर के ग्रामीणों ने कहा- RLD से कोई लेना-देना नहीं, बीजेपी को दे रहे हैं वोट

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान शाहपुर क्षेत्र के गांव सोरम में रस्म तेरहवीं में शामिल होने पहुंचे केंद्रीय राज्यमंत्री डॉक्टर संजीव बालियान का विरोध करने पर भाजपा और रालोद समर्थक आपस में भिड़ गए। पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग किया। टकराव में काफी ग्रामीण घायल हो गए। मंत्री का कहना था कि उनका विरोध करने वाले आरएलडी के वर्कर थे।

कृषि कानून को वापस लेने के लिए पिछले तीन महीने से किसान गाजीपुर और टिकरी बॉर्डर पर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में ऐसी ही एख पंचायत के दौरान कहा गया कि किसी ने बीजेपी के नेताओं को शादी समारोह में बुलाया तो उन्हें 100 लोगों को स्पेशल खाना खिलाने का दंड दिया जाएगा। वहीं केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान शाहपुर क्षेत्र के गांव सोरम में रस्म तेरहवीं में शामिल होने पहुंचे केंद्रीय राज्यमंत्री डॉक्टर संजीव बालियान का विरोध करने पर भाजपा और रालोद समर्थक आपस में भिड़ गए। पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग किया। टकराव में काफी ग्रामीण घायल हो गए। मंत्री का कहना था कि उनका विरोध करने वाले आरएलडी के वर्कर थे। जबकि कई लोगों ने मंत्री के समर्थकों और सुरक्षाकर्मियों पर हमले का आरोप लगाया। 

इसे भी पढ़ें: किसानों को गुमराह करना पाप,न मंडियां बंद होंगी न एमएसपी पर खरीद: योगी आदित्यनाथ

वहां मौजूद कई गांव वालों ने कहा कि हमारा आरएलडी से कोई लेना-देना नहीं है। कभी आरएलडी में हुआ करते थे। लेकिन 2014 से संजीव बालियान को वोट दे रहे हैं। बीजेपी के साथ है। इसके साथ ही लोगों का कहना है कि हमारा विरोध किसान के मसले को लेकर है। 

बीजेपी अध्यक्ष से मिले बालियान

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। दोनों के बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हालात को लेकर करीब आधे घंटे तक चर्चा हुई। खबरों के अनुसार बालियान ने पार्टी अध्यक्ष के सामने वर्तमान की सारी परिस्थितियां पार्टी अध्यक्ष के सामने रखी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept