कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वायुसेना प्रमुख से मुलाकात, राहत कार्य पर हुई चर्चा

कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वायुसेना प्रमुख से मुलाकात, राहत कार्य पर हुई चर्चा

एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कोविड-19 महामारी से निपटने में मदद के लिये वायुसेना द्वारा किये जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी। एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने प्रधानमंत्री को बताया वायुसेना के तहत आने वाले अस्पतालों ने कोविड-19 संबंधी सुविधाएं बढ़ाई हैं

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारत को झकझोर कर रख दिया है। देश में इस समय डर का माहौल है। हर दिन हजारों लोगों की सांसे उखड़ रही हैं। ऑक्सीजन की कमी से मरीज दम तोड़ रहे हैं। सुशासन का दम भरने वाली सरकारों का दम कोरोना वायरस ने निकाल दिया है और उनके झूठे दावों की पोल खोल दी है। ऐसे में देश की सेना युद्ध स्तर पर कोरोना वायरस से जंग लड़ रही है। दूसरे देशों से ऑक्सीजन की मदद ली जा रही है। जल, थल वायु सेना लोगों की मदद के लिए हर  मुमकिन प्रयास कर रही हैं। ऐसे में राहत कार्य की खबर के लिए प्रधानमंत्री ने  एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया के साथ मुलाकात की और परिस्थिति की गंभीरता से निपटने की प्लानिंग की।

इसे भी पढ़ें: कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वायुसेना प्रमुख से मुलाकात, राहत कार्य पर हुई चर्चा  

एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कोविड-19 महामारी से निपटने में मदद के लिये वायुसेना द्वारा किये जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी। एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने प्रधानमंत्री को बताया वायुसेना के तहत आने वाले अस्पतालों ने कोविड-19 संबंधी सुविधाएं बढ़ाई हैं, जहां संभव है वहां असैन्य नागरिकों को भी  भर्ती किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: पत्नी का लाश साइकिल पर लेकर भटकता रहा बुजुर्ग पति, लोगों ने नहीं करने दिया अंतिम संस्कार  

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा सुनिश्चित करें कि कोविड-19 संबंधी अभियान में शामिल वायुसेना कर्मी संक्रमण से सुरक्षित रहें। महामारी संबंधी अभियान में विभिन्न मंत्रालयों, एजेंसियों के साथ तेजी से समन्वय सुनिश्चित करने के लिये वायुसेना ने समर्पित कोविड-19 प्रकोष्ठ का गठन किया है।

 

 समीक्षा के दौरान हुई कोरोना वायरस के राहत कार्य पर चर्चा

 प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी किए गए बयान के मुताबिक भदौरिया ने प्रधानमंत्री को बताया कि भारतीय वायु सेना देश की कोविड-19 संबंधी जरूरतों को पूरी करने के लिए 24 घंटे प्रयासरत है। बयान में कहा गया, ‘‘प्रधानमंत्री ने ऑक्सीजन टैंकरों और अन्य आवश्यक वस्तुओं के परिवहन ऑपरेशन की गति तेज करने, उसका स्तर बढ़ाने और उसकी सुरक्षा पर ध्यान देने की आवश्यकता पर बल दिया।’’ प्रधानमंत्री ने इस दौरान इस अभियान की सुरक्षा के साथ-साथ इसमें जुटे वायु सेना के कर्मियों की संक्रमण से सुरक्षा सुनिश्चित करने पर जोर दिया। बयान के मुताबिक भदौरिया ने प्रधानमंत्री को बताया कि इस अभियान में बड़े और छोटे हवाई जहाजों का उपयोग किया जा रहा है ताकि देश के हर क्षेत्र में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जा सके। प्रधानमंत्री ने इस दौरान वायु सेनाकर्मियों और उनके परिजनों के स्वास्थ्य के बारे में पता किया। भदौरिया ने उन्हें बताया कि वायु सेना के अधिकांश कर्मियों का टीकाकरण हो चुका है। भदौरिया ने प्रधानमंत्री को यह भी बताया कि वायु सेना ने अपने अस्पतालों में कोविड-19 से संबंधित सुविधाओं में इजाफा किया है और जहां संभव हो रहा है वहां सामान्य नागरिकों की भी देखभाल की जा रही है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।