आदित्य ठाकरे ने सियासत को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- बेरोजगारी पर ध्यान देना ज्यादा जरूरी

आदित्य ठाकरे ने सियासत को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- बेरोजगारी पर ध्यान देना ज्यादा जरूरी

आदित्य ने कहा कि हमने मुंबई में एक मेट्रो, एक तटीय सड़क और एक ट्रांस-हार्बर लिंक रोड का निर्माण किया। बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) और राज्य सरकार दोनों ने बहुत काम किया है। हालांकि, अभी भी महंगाई, बेरोजगारी और जातियों, धर्मों और पंथों के बीच वैमनस्य के मुद्दे हैं।"

शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने भाजपा पर निशाना साधते हुए शनिवार को कहा कि पार्टी का हिंदुत्व नफरत नहीं फैलाता है। आदित्य ठाकरे ने 'शिव संपर्क अभियान' में कहा, "हम हिंदुत्व के अनुयायी हैं, जो नफरत नहीं फैलाते बल्कि बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार देते हैं।" आदित्य ने कहा कि हमने मुंबई में एक मेट्रो, एक तटीय सड़क और एक ट्रांस-हार्बर लिंक रोड का निर्माण किया। बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) और राज्य सरकार दोनों ने बहुत काम किया है। हालांकि, अभी भी महंगाई, बेरोजगारी और जातियों, धर्मों और पंथों के बीच वैमनस्य के मुद्दे हैं।" कोविड -19 महामारी के दौरान राज्य सरकार के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए आदित्य ने कहा कि हमारी सरकार बनने के बाद सीएम उद्धव ने पूरे महाराष्ट्र की यात्रा की। 

इसे भी पढ़ें: मुंबई रैली में गरजे उद्धव ठाकरे, कहा- गधे को लात मार हम आगे बढ़ गए

आदित्य ने कहा कि हमें कोविड महामारी के दौरान असाधारण काम भी मिला। न केवल हमें, बल्कि हमारे काम को मान्यता मिली है और वैश्विक स्तर पर प्रशंसा की गयी है। आदित्य ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी हमारे धारावी मॉडल का पालन किया है। हमें गर्व है कि महाराष्ट्र ने देश के बाकी हिस्सों को दिखाया है कि कैसे कोविड से लड़ना है।"

इसे भी पढ़ें: शरद पवार के खिलाफ मराठी अभिनेत्री के आपत्तिजनक पोस्ट पर बोले राज ठाकरे, हमारे मतभेद हैं लेकिन...

गौरतलब है कि साल 2020 में जेनेवा में हुए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि पिछले 6 हफ्तों में कोरोना के मामले दोगुने से ज्यादा हुए हैं। कई उदाहरण ऐसे भी हैं जिनमें देखा गया कि भले ही यह वायरस तेजी से फैला हो लेकिन फिर भी इसपर काबू पाया जा सकता है। यह उदाहरण हैं- इटली, स्पेन, साउथ कोरिया और भारत में धारावी। मुंबई का धारावी काफी आबादी वाला इलाका है। वहां टेस्टिंग, ट्रेसिंग, आइसोलेशन और इलाज के दम पर कोरोनावायरस की चेन ब्रेक करने में कामयाबी मिली।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।