प्रवर्तक राकेश गंगवाल ने इंडिगो में कंपनी संचालन में गंभीर खामियों का मुद्दा उठाया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 10 2019 11:36AM
प्रवर्तक राकेश गंगवाल ने इंडिगो में कंपनी संचालन में गंभीर खामियों का मुद्दा उठाया
Image Source: Google

गंगवाल ने बाजार नियामक सेबी को लिखे पत्र में कंपनी में संचालन के स्तर पर कई गंभीर खामियों को उठाया है। उन्होंने भाटिया तथा उनकी कंपनियों पर संदिग्ध लेनदेन में लिप्त होने का आरोप लगाया है।

नयी दिल्ली। इंडिगो के संस्थापकों में जारी विवाद के बीच प्रवर्तक राकेश गंगवाल ने एयरलाइन में संचालन में गंभीर खामियों का आरोप लगाते हुए कहा कि "पान की दुकान" भी अपने मामलों को इससे बेहतर तरीके से संभालती है। गंगवाल ने कहा कि कंपनी ने मूल सिद्धांतों और संचालन मूल्यों से "पीछे हटना शुरू कर दिया है। इन्हीं सिद्धांतों और मूल्यों ने कंपनी को आज इस मुकाम पर पहुंचाया है। गंगवाल और उनके सहयोगियों की इंटरग्लोब एविएशन में करीब 37 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

इसे भी पढ़ें: मूसलाधार बारिश से मुम्बई बेहाल: घर से न निकलने का अलर्ट, 11 उड़ानें रद्द

इंटरग्लोब एविएशन देश की सबसे बड़ी एयरलाइन इंडिगो की मूल कंपनी है। सह-संस्थापक राहुल भाटिया एवं उनके सहयोगियों की कंपनी में करीब 38 प्रतिशत हिस्सेदारी है। गंगवाल ने बाजार नियामक सेबी को लिखे पत्र में कंपनी में संचालन के स्तर पर कई गंभीर खामियों को उठाया है। उन्होंने भाटिया तथा उनकी कंपनियों पर संदिग्ध लेनदेन में लिप्त होने का आरोप लगाया है।

इसे भी पढ़ें: स्पाइसजेट ने अपने बेड़े में बोइंग737 विमान शामिल करने की घोषणा की



उनके अनुसार, शेयरधारकों के समझौते में उनके दोस्त भाटिया को इंडिगो पर असामान्य नियंत्रण अधिकार दिए गये हैं। उन्होंने पत्र की प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन, नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल समेत अन्य लोगों को भेजी है। गंगवाल के निदेशक मंडल को असाधारण आम बैठक बुलाने के बारे में खिले जाने के बाद भाटिया ने 12 जून को प्रस्ताव का विरोध किया था।

 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story