लद्दाख में टेलीमेडीसिन सुविधा उपलब्ध कराने के लिए डाक्टरों की उपराज्यपाल से मुलाकात

Telemedicine Facility In Ladakh
Google Creative Commons.
यह प्रस्ताव मेडिजंक्शन स्मार्ट हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक के नेतृत्व में चिकित्सकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने नयी दिल्ली में लद्दाख के उपराज्यपाल आर के माथुर से मुलाकात के दौरान उनके समक्ष प्रस्तुत किया।

लेह| दिल्ली स्थित चिकित्सकों की एक निजी कंपनी ने लद्दाख के सुदूर इलाकों में टेलीमेडीसिन की सुविधा मुहैया कराने का प्रस्ताव रखा है। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने रविवार को यह जानकारी दी।

यह प्रस्ताव मेडिजंक्शन स्मार्ट हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक के नेतृत्व में चिकित्सकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने नयी दिल्ली में लद्दाख के उपराज्यपाल आर के माथुर से मुलाकात के दौरान उनके समक्ष प्रस्तुत किया।

प्रवक्ता ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने डॉक्टरों और नर्सों सहित लद्दाख के दूरदराज के इलाकों में चिकित्सा कर्मचारियों की प्रत्यक्ष मौजूदगी के साथ-साथ टेलीमेडीसिन स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने का प्रस्ताव रखा।

उन्होंने केंद्र शासित प्रदेश के सुदूर इलाकों में लोगों केदरवाजे पर तत्काल स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने और डिजिटल आईसीयू (गहन चिकित्सा इकाई) पर भी चर्चा की।

प्रतिनिधिमंडल ने उपराज्यपाल के सामने ग्रामीण डिजिटल क्लीनिक स्थापित करने, विभिन्न सेवाओं को एकीकृत करने और डॉक्टरों के समय का उचित उपयोग करने का भी प्रस्ताव रखा।

इस बीच, उपराज्यपाल माथुर ने लद्दाख स्वायत्त पहाड़ी विकास परिषद (एलएएचडीसी) कारगिल के अध्यक्ष फिरोज अहमद खान और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में दिल्ली के द्वारका में लद्दाख भवन (कारगिल विंग) के निर्माण की आधारशिला रखी। इसके निर्माण में करीब 15 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़