पीओके में हालात बिगड़े, पाकिस्तान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन तेज हुए

protests  pok
Twitter
प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उन्हें जुलाई से बढ़ोतरी मिलनी थी लेकिन अब तक कुछ नहीं किया गया है। सरकारी कर्मचारियों का कहना है कि सरकार ने बजट में वेतन वृद्धि का प्रावधान किया था लेकिन अभी तक इस बात को नहीं बताया गया है कि यह वृद्धि कबसे मिलनी शुरू होगी।

मुजफ्फराबाद। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में इस समय हालात बेहद खराब नजर आ रहे हैं। बेरोजगार लोग नौकरी की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं तो सरकारी कर्मचारी वेतन वृद्धि की मांग को लेकर सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरे हुए हैं। आर्थिक संकट में फंस चुके पाकिस्तान में महंगाई भी सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है जिसका असर पीओके में भी देखा जा रहा है। जहां तक सरकारी कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शन की बात है तो हम आपको बता दें कि सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सड़कों पर उतरकर पाकिस्तान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि पाकिस्तान सरकार कर्मचारियों के वेतन में 15% की वृद्धि करने के अपने वादे को पूरा करने में विफल रही है।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में BrahMos मिसाइल गिरने का मामला, वायुसेना के 3 अधिकारियों को किया गया बर्खास्त

सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उन्हें जुलाई से बढ़ोतरी मिलनी थी लेकिन अब तक कुछ नहीं किया गया है। सरकारी कर्मचारियों का कहना है कि सरकार ने बजट में वेतन वृद्धि का प्रावधान किया था लेकिन अभी तक इस बात को नहीं बताया गया है कि यह वृद्धि कबसे मिलनी शुरू होगी। प्रदर्शनकारियों ने शिकायत की कि बढ़ती महंगाई ने उनके घरेलू बजट को पहले ही हिला कर रख दिया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार पीओके की समस्याओं पर आंखें मूंदे बैठी हुई है। हम आपको बता दें कि यह प्रदर्शन दिन पर दिन विकराल रूप लेता जा रहा है और अब आम जनता भी इस प्रदर्शन में शामिल होकर पाकिस्तान सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रही है। सरकारी कर्मचारियों का कहना है कि पाकिस्तान सरकार जब तक उनके वेतन से जुड़े मुद्दे का समाधान नहीं करती तब तक वह हार मानने वाले नहीं हैं।

अन्य न्यूज़