• Prabhasakshi's Newsroom । कृषि कानूनों के विरोध में भारत बंद से जनता हुई परेशान, टिकैत बोले- हम सफल रहे

केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों के भारत बंद के आह्वान पर पंजाब, हरियाणा में किसानों ने राजमार्ग और सड़कें जाम कीं तथा कई जगह रेलवे पटरी पर बैठ गए, जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ।

नयी दिल्ली। केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा ने एकदिवसीय भारत बंद बुलाया, जिसकी वजह से राजधानी दिल्ली का यातायात प्रभावित रहा। जबकि किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि भारत बंद सफल रहा है। वहीं बात राजस्थान में चल रही रीट परीक्षा की करेंगे। जिसको लेकर परीक्षार्थियों ने आंदोलन किया और अंत में बात असदुद्दीन ओवैसी की होगी। 

इसे भी पढ़ें: CM शिवराज ने दिग्विजय सिंह को याद दिलाया पुराना नारा , कहा - जब तक रहेंगे दिग्गी, जलती रहेगी डिब्बी 

क्या सफल रहा भारत बंद ?

केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों के भारत बंद के आह्वान पर पंजाब, हरियाणा में किसानों ने राजमार्ग और सड़कें जाम कीं तथा कई जगह रेलवे पटरी पर बैठ गए, जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ। पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने कहा है कि वह तीन विवादित कानून के विरोध में किसान यूनियनों के ‘भारत बंद’ के आह्वान पर उनके साथ दृढ़ता से खड़ी है।

वहीं भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भारत बंद के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भारत बंद पूर्ण रूप से सफल रहा है।

आपको बता दें कि विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शनकारियों ने राजमार्गों और प्रमुख सड़कों को अवरुद्ध कर दिया। कई स्थानों पर वे रेल की पटरियों पर भी बैठ गए जिससे रेल यातायात प्रभावित हुआ। बंद सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक जारी रहा। इस दौरान लोगों को भारी जाम का सामना करना पड़ा। 

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन की शुरुआत की 

बंद का अधिकतर असर गुड़गांव, गाजियाबाद और नोएडा सहित दिल्ली-एनसीआर क्षेत्रों में दिखा, जहां से रोजाना हजारों लोग कामकाज के सिलसिले में सीमा पार करते हैं। दिल्ली से लगी गाजियाबाद और नोएडा की सीमाओं पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी, जबकि कुछ प्रमुख मार्गों पर यातायात प्रभावित हुआ। गाजियाबाद पुलिस ने दिल्ली में गाजियाबाद और निजामुद्दीन को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद कर दिया।

इसी बीच बीकेयू (भानु) के अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने राकेश टिकैत पर ही हमला बोला और तालिबान का भी जिक्र किया।

देरी से शुरू हुई परीक्षा

राजस्थान में शिक्षकों के लिए रीट की परीक्षा दो पारियों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रविवार को आयोजित की गई थी। इस दौरान अलवर जिले के एक परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देरी से शुरू हुई। जिसको लेकर विवाद खड़ा हो गया और परीक्षार्थियों ने प्रदर्शन किया। 

इसे भी पढ़ें: मेरठ : किसान मजदूर संगठन के मेरठ कमिश्नरी पर शुरू किया अनिश्चितकालीन धरना 

हालांकि प्रदर्शनकारियों का आंदोलन सफल रहा। राजस्थान सरकार ने देरी से शुरू हुए परीक्षा केंद्रों के परीक्षार्थियों के लिए फिर से परीक्षा का आयोजन करने की घोषणा की है।

ओवैसी ने PM मोदी पर साधा निशाना

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कई सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार संसद, संविधान का मूल ढांचा है। शक्तियों के विभाजन का सिद्धांत कहता है कि कार्य पालिका, न्याय पालिका और विधान मंडल की गतिविधियों में हस्तक्षेप नहीं कर सकती है। प्रधानमंत्री उसी कार्य पालिका का हिस्सा हैं।