• पूरे भारत में पंजाब में दलितों का प्रतिशत है सबसे ज़्यादा, बादल ने चला डिप्टी CM का दांव, तो कांग्रेस ने सौंप दी राज्य की कमान

अभिनय आकाश  Sep 19, 2021 18:38

अकाली दल और बीएसपी का पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन हुआ है। पंजाब के चुनाव में दलित फैक्टर कितना महत्वपूर्ण इसका अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि अकाली नेता सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि राज्य में उनकी सरकार बनने पर दो डिप्टी सीएम बनाए जाएंगे।

पंजाब में पहली बार किसी दलित को मुख्यमंत्री बनाया गया है। चरणजीत सिंह चन्नी रामदासिया समुदाय (सिख दलित) से आते हैं। पूरे भारत में पंजाब में दलितों का प्रतिशत सबसे ज़्यादा है। पंजाब में करीब का 32 फ़ीसदी दलित आबादी है। लेकिन आज़ादी के बाद पंजाब के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि कोई दलित राज्य का मुख्यमंत्री बना हो या इसके आस-पास भी फटका हो। लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि पंजाब को एक दलित मुख्यमंत्री मिला है। पंजाब में कई सीट ऐसी हैं जहां दलितों की भूमिका निर्णायक होती है। पंजाब की 117 में से 33 सीटें दलितों के लिए आरक्षित हैं।  

बीएसपी और अकाली समझौते की काट

कांग्रेस को ये लग रहा था कि आपसी कलह नहीं सुलझ रहा है तो क्यों न वोटों के ध्रुवीकरण की काट की जाए। अकाली दल और बीएसपी का पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन हुआ है।  पंजाब के चुनाव में दलित फैक्टर कितना महत्वपूर्ण  इसका अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि अकाली नेता सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि राज्य में उनकी सरकार बनने पर दो डिप्टी सीएम बनाए जाएंगे, जिनमें से एक डिप्टी सीएम दलित समाज से होगा और राज्य के दोआब इलाके में डॉ भीमराव आम्बेडकर के नाम पर एक विश्वविद्यालय भी स्थापित किया जाएगा। वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ उनसे एक कदम और आगे बढ़ गए। उन्होंने कहा, 'अगर अगले साल पंजाब विधानसभा चुनावों में बीजेपी सत्ता में आती है तो दलित मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के नए CM, हरीश रावत ने ट्वीट कर दी जानकारी

1996 के लोकसभा में बसपा और अकाली गठबंधन

1996 के लोकसभा चुनाव का वह खौफ सब पर बना हुआ है जब अकाली दल और बीएसपी गठबंधन हुआ था और गठबंधन ने 13 लोकसभा सीटों में से 11 सीट जीत लीं थी लेकिन 1997 के विधानसभा चुनाव के वक्त यह गठबंधन टूट गया था। अकाली दल और बीजेपी के बीच गठबंधन हो गया जोकि दो दशक से ज्यादा चला।