राफेल का भारतीय धरती पर उतरना वायुसेना के लिए ऐतिहासिक दिन: अमित शाह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 29, 2020   18:53
राफेल का भारतीय धरती पर उतरना वायुसेना के लिए ऐतिहासिक दिन: अमित शाह

राफेल का उतरना हमारी शक्तिशाली वायुसेना के लिए ऐतिहासिक दिन और भारत के लिए गौरवपूर्ण क्षण है। ये आसमान में किसी भी चुनौती को नाकाम करने में सक्षम सबसे शक्तिशाली मशीनें हैं।

नयी दिल्ली। भारतीय धरती पर पांच राफेल लड़ाकू विमानों के उतरने को भारतीय वायुसेना के लिए ऐतिहासिक दिन और देश के लिए गौरवपूर्ण क्षण बताते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि ये आसमान में किसी भी चुनौती को नाकाम करने में सक्षम दुनिया की सबसे शक्तिशाली मशीनें हैं। शाह ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि मोदी सरकार भारत की रक्षा क्षमताओं को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है और विश्वस्तरीय लड़ाकू विमान इस दिशा में बड़ा बदलाव लाने वाले साबित होंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘राफेल का उतरना हमारी शक्तिशाली वायुसेना के लिए ऐतिहासिक दिन और भारत के लिए गौरवपूर्ण क्षण है। ये आसमान में किसी भी चुनौती को नाकाम करने में सक्षम सबसे शक्तिशाली मशीनें हैं। मुझे विश्वास है कि राफेल अपनी शक्ति के साथ हमारे आसमान की सुरक्षा करने में हमारे वायुवीरों की मदद करेंगे।’’ गृह मंत्री ने कहा कि अगली पीढ़ी के लड़ाकू विमानों का वायुसेना में शामिल होना भारत को शक्तिशाली और सुरक्षित राष्ट्र बनाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संकल्प का प्रमाण है। 

इसे भी पढ़ें: राफेल और राम मंदिर के सहारे PM मोदी ने विपक्ष को किया चित, समृद्धि की ओर बढ़ा भारत

शाह ने वायुसेना को इस तरह की अभूतपूर्व शक्ति प्रदान करने के लिए मोदी का आभार भी प्रकट किया। उन्होंने कहा, ‘‘गति से शस्त्र क्षमताओं तक, राफेल एक कदम आगे है। मुझे विश्वास है कि यह विश्वस्तरीय लड़ाकू विमान परिवर्तन लाने वाला साबित होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भारतीय वायुसेना और पूरे देश को इस क्षण के लिए बधाई।’’ फ्रांस निर्मित पांच राफेल विमान बुधवार को अंबाला वायुसेना स्टेशन में उतरे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।