Rahul Gandhi ने कहा कि सिख समुदाय के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है

Rahul
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
राहुल गांधी की यह टिप्पणी पंजाब की विपक्षी पार्टियों द्वारा कांग्रेस को निशाना बनाए जाने और 1984 के सिख विरोधी दंगों के लिए उनसे माफी की मांग की पृष्ठभूमि में आई है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि उनके मन में सिख समुदाय के प्रति अथाह सम्मान है और इस समुदाय के योगदान के बिना भारत आज जैसा नहीं होता। राहुल गांधी की यह टिप्पणी पंजाब की विपक्षी पार्टियों द्वारा कांग्रेस को निशाना बनाए जाने और 1984 के सिख विरोधी दंगों के लिए उनसे माफी की मांग की पृष्ठभूमि में आई है। शिरोमणि अकाली दल जैसी पार्टियां राहुल गांधी के पंजाब दौरे पर सवाल उठा रही हैं और 1984 के ऑपरेशन ब्लूस्टार व कुछ महीनों बाद सिख विरोधी दंगों को लेकर उनसे माफी की मांग कर रही हैं।

इस बारे में पूछे जाने पर राहुल गांधी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने संसद में अपना और पार्टी का रुख स्पष्ट तरीके से रखा था। ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ से इतर संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘‘कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी ऐसा किया है और मैं पूरी तरह से (पूर्व) प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी और सोनिया गांधी जी का समर्थन करता हूं। मैंने भी पूर्व में अपने रुख को बहुत ही स्पष्ट तरीके से रखा है।’’

जब उनसे पूछा गया कि पंजाब में उनकी यात्रा ‘सुलह’ की कोशिश प्रतीत हो रही है तो उन्होंने कहा, ‘‘मेरा पंजाब के लोगों से अनुराग है और मैं इससे और आगे जाकर कहना चाहूंगा कि मेरा प्रेम और अनुराग पंजाब के लोगों और खासतौर पर सिख समुदाय के प्रति है। इसलिए मेल मिलाप छोटा शब्द है।’’ कांग्रेस सांसद ने कहा, ‘‘मुझे इस राज्य के लोगों से प्रेम और अनुराग है और जो उन्होंने किया है और जो भविष्य के लिए कर रहे हैं उसको लेकर मेरे मन में सिख समुदाय के प्रति काफी सम्मान है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह भावुक करने वाला बयान है। मेरा मानना है कि भारत, भारत नहीं होता अगर सिख समुदाय नहीं होता। आपने कई मामलों में केंद्रीय भूमिका निभाई है। आप इस देश की रीढ़ हैं... इसका मैं बहुत अधिक आदर करता हूं।’’ गत विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बारे मे राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी सत्ताविरोधी लहर की वजह से हारी। उन्होंने कहा, ‘‘नेतृत्व के बीच कुछ मुद्दे थे लेकिन वे सुलझाने योग्य थे और आने वाले दिनों में ये मुद्दे नहीं रहेंगे। ऐसी कोई समस्या नहीं है और सभी साथ चल रहे हैं।’’

राहुल ने कहा कि यह स्वीकार किया जाना चाहिए कि पंजाब की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर थी। उन्होंने कहा, ‘‘यह सच्चाई है जिसका नतीजा है कि आम आदमी पार्टी (आप) ने चुनाव में जीत दर्ज की। लेकिन मेरा मानना है कि अब कांग्रेस के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर खत्म हो गई है...और मुझे लगता है कि कांग्रेस आसानी से यहां अगली सरकार बनाएगी।’’ उन्होंने पंजाब की आप सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि वह राज्य के लोगों को दिशा देने में असफल रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़