क्या फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बनेंगे राहुल गांधी ? पार्टी की जिम्मेदारी सौंपने की हो रही पैरवी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 24, 2020   21:49
क्या फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बनेंगे राहुल गांधी ? पार्टी की जिम्मेदारी सौंपने की हो रही पैरवी

महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दलवई ने कहा कि मौजूदा समय में राहुल गांधी के अलावा कोई दूसरा नेता नहीं है जो देश को प्रभावित करने वाले मुद्दों को इतने जोरदार ढंग से उठा रहा हो।

नयी दिल्ली। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में मंगलवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राहुल गांधी को फिर से पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपने की पैरवी करने के बाद पार्टी के भीतर एक बार फिर यह मांग जोर पकड़ने लगी है। कांग्रेस के पूर्व सांसद हुसैन दलवई और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सीवी चंद रेड्डी ने बुधवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से आग्रह किया कि राहुल गांधी को अध्यक्ष की जिम्मेदारी जल्द सौंपी जाए। महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दलवई ने कहा कि मौजूदा समय में राहुल गांधी के अलावा कोई दूसरा नेता नहीं है जो देश को प्रभावित करने वाले मुद्दों को इतने जोरदार ढंग से उठा रहा हो। 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी पर बरसे BJP चीफ नड्डा, कहा- एक खारिज राजवंश पूरा विपक्ष नहीं हो सकता 

उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा, ‘‘यह सिर्फ मेरी भावना नहीं है, बल्कि युवाओं और सभी कार्यकर्ताओं की भावना है कि राहुल जी को फिर से पार्टी की कमान संभालनी चाहिए।’’ रेड्डी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में गहलोत की मांग का समर्थन किया और कहा कि अब राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी जानी चाहिए क्योंकि इस वक्त देश के सामने खड़ी चुनौतियों के मद्देनजर जनता को उनके नेतृत्व की सख्त जरूरत है। इससे पहले, सोमवार को सीडब्ल्यूसी की बैठक में गहलोत ने मांग की थी कि राहुल गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए। उनकी इस मांग का कांग्रेस के कई नेताओं ने समर्थन किया। गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद राहुल गांधी ने पराजय की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। बाद में सोनिया गांधी को फिर से यह जिम्मेदारी सौंपी गई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।