कश्मीर की सुरंगों में होंगी आधुनिक संचार सुविधाएं, जानिये सरकारी कंपनी रेलटेल कौन-सी तकनीक लाने जा रही है?

कश्मीर की सुरंगों में होंगी आधुनिक संचार सुविधाएं, जानिये सरकारी कंपनी रेलटेल कौन-सी तकनीक लाने जा रही है?
प्रतिरूप फोटो

रेलवे की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, वीएचएफ सिम्प्लेक्स को भारतीय रेलवे की तकनीकी शाखा रेलटेल द्वारा 86.90 करोड़ रुपये की लागत से क्रियान्वित किया जाएगा। हम आपको बता दें कि उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला खंड का प्रबंधन कोंकण रेलवे द्वारा किया जा रहा है।

कश्मीर में इस समय विकास की कई परियोजनाएं चल रही हैं। यह परियोजनाएं सुविधाओं और तकनीक के लिहाज से आधुनिक भी हों इसका भी पूरा ख्याल रखा जा रहा है। कश्मीर घाटी में इस समय कई सुरंगों के निर्माण का काम जारी है ताकि भारी से भारी बर्फबारी के बीच भी कश्मीर घाटी का संपर्क पूरे देश के साथ बना रहे। इसी कड़ी में सरकार का प्रयास है कि इन सुरंगों में संचार की भी पूरी व्यवस्था रहे। इसलिए सरकारी कंपनी रेलटेल ने ऐलान किया है कि वह उत्तर रेलवे के उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला खंड में रेल लिंक परियोजना के लिए अत्याधुनिक संचार प्रणाली मुहैया कराएगा जिससे सुरंगों के भीतर से बेस स्टेशन तक निर्बाध लिंक उपलब्ध होगा। 

इसे भी पढ़ें: एक हफ्ते बाद चली जाएगी पाक PM की कुर्सी? इमरान पर संसद को 'नो कॉन्फिडेंस', सेना प्रमुख से लेकर चीफ जस्टिस तक नाराज 

रेलवे की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, एकीकृत सुरंग संचार प्रणाली (वीएचएफ सिम्प्लेक्स) को भारतीय रेलवे की तकनीकी शाखा रेलटेल द्वारा 86.90 करोड़ रुपये की लागत से क्रियान्वित किया जाएगा। हम आपको बता दें कि उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला खंड का प्रबंधन कोंकण रेलवे द्वारा किया जा रहा है। इसमें 16 सुरंगें हैं। खराब सिग्नल कवरेज के कारण सुरंगों के अंदर संचार अक्सर बाधित होता है, जिससे ट्रेन संचालन और रखरखाव गतिविधियों में बाधा आ सकती है। बयान में कहा गया है, ‘‘यह अत्याधुनिक एकीकृत सुरंग संचार प्रणाली सुरंग के अंदर हाथ से पकड़े जाने वाले रेडियो का सुरंग नियंत्रण कक्ष पर आधार स्टेशन और पास के स्टेशनों के स्टेशन मास्टरों के बीच निर्बाध रेडियो संचार प्रदान करने के लिए डिज़ाइन की गई है।’’

बयान में कहा गया है, ‘‘निर्माण या रखरखाव गतिविधियों और ट्रेन संचालन में शामिल कर्मचारियों को हाथ में पकड़े जाने वाले उपकरण प्रदान किए जाते हैं। सुरंग में सभी चैनलों का संचार स्वतंत्र, एक समय और विफलता मुक्त है। इस काम के पूरा होने से सुरंगों के अंदर ट्रेनों का सुरक्षित और सुचारू संचालन सुनिश्चित होगा जो निस्संदेह, भारतीय रेलवे के सबसे दुर्गम इलाकों में से एक है।’’ रेलटेल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक पुनीत चावला ने कहा कि संचार समग्र ट्रेन संचार प्रणाली के लिए एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और रेलटेल के पास ट्रेन संचालन के साथ-साथ सुरक्षा में सुधार के लिए इसे निष्पादित करने की विशेषज्ञता है।

कश्मीर से आतंक के खात्मे का अभियान जारी

दूसरी ओर, जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों का खात्मा जारी है। पिछले 24 घंटों में श्रीनगर और कुलगाम जिलों में सुरक्षा बलों के साथ अलग-अलग मुठभेड़ों में दो आतंकवादी मारे गए। अधिकारियों ने बताया कि बेमिना इलाके के हमदानिया कॉलोनी इलाके में गुरुवार शाम को मुठभेड़ शुरू हो गयी। कश्मीर मंडल पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर बताया कि मुठभेड़ में एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया है। कुछ गोला बारुद के साथ एक एके राइफल भी बरामद की गयी है जबकि तलाश अभियान अभी चल रहा है। इसके अलावा दक्षिण कश्मीर में कुलगाम के चावलगाम इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना मिलने पर कार्रवाई करते हुए सुरक्षा बलों ने वहां घेराबंदी की तथा तलाश अभियान शुरू किया। जब सुरक्षा बल इलाके में तलाशी ले रहे थे, तब आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी की। सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। इस दौरान एक आतकंवादी मारा गया।

कश्मीर में अशांति फैलाने वालों पर बरसी भाजपा

उधर, कश्मीर में हाल में नागरिकों की टार्गेट किलिंग पर भाजपा ने कहा है कि यह कश्मीर में शांति और विकास को बाधित करने का प्रयास है। कश्मीर के भाजपा नेताओं ने प्रभासाक्षी से खास बातचीत में कहा कि आतंकवादियों को बख्शा नहीं जायेगा और केंद्र सरकार तथा राज्य का प्रशासन केंद्र शासित प्रदेश में अमन चैन और शांति स्थापित करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। श्रीनगर जिला भाजपा अध्यक्ष अशोक भट ने कहा कि केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का लाभ अब जम्मू-कश्मीर के लोगों को मिल रहा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।