अलवर गैंगरेप मामले की CBI जांच कराएगी गहलोत सरकार, हाई लेवल मीटिंग के बाद लिया गया निर्णय

अलवर गैंगरेप मामले की CBI जांच कराएगी गहलोत सरकार, हाई लेवल मीटिंग के बाद लिया गया निर्णय
प्रतिरूप फोटो

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री निवास पर वीसी के माध्यम से हुई उच्च स्तरीय बैठक में राज्य सरकार ने अलवर विमंदित बालिका के प्रकरण की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपे जाने का निर्णय लिया है। इसके लिए राज्य सरकार की ओर से जल्द केंद्र सरकार को अनुशंसा भेजी जाएगी।

जयपुर। अलवर रेप कांड को लेकर राजस्थान की गहलोत सरकार ने बड़ा निर्णय लिया है। इस मामले में गहलोत सरकार की ओर से केंद्र सरकार को अनुशंसा भेजी जाएगी। इसकी जानकारी खुद मुख्यमंत्री गहलोत ने ट्वीट करके दी। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा कि मुख्यमंत्री निवास पर वीसी के माध्यम से हुई उच्च स्तरीय बैठक में राज्य सरकार ने अलवर विमंदित बालिका के प्रकरण की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपे जाने का निर्णय लिया है। इसके लिए राज्य सरकार की ओर से जल्द केंद्र सरकार को अनुशंसा भेजी जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: नाबालिग लड़की का रेप, बुरी तरह जख्मी किए गए प्राइवेट पार्ट्स; मेडिकल रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा 

विपक्ष ने की थी सीबीआई जांच की मांग

भाजपा ने शनिवार को अलवर गैंगरेप मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की थी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा था कि हम मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हैं ताकि सच्चाई सामने आए। उन्होंने इस मामले में पुलिस पर रुख बदल लेने का आरोप भी लगाया था। उन्होंने कहा था कि राजस्थान जैसे शांतिपूर्ण राज्य में पिछले 3 वर्षों में अपराध बढ़े हैं। पीड़िता के साथ दरिदंगी की गई है। 

इसे भी पढ़ें: अलवर गैंगरेप को लेकर भाजपा का कांग्रेस पर हमला, संबित पात्रा बोले- राजस्थान में लड़की हूं लड़ना मना है मॉडल 

प्रियंका पर साधा था निशाना

सतीश पूनिया ने प्रियंका गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा था कि कांग्रेस महासचिव ने उत्तर प्रदेश में लड़की हूं, लड़ सकती हूं का नारा दिया लेकिन राजस्थान की घटना को नजरअंदाज कर दिया है। जिसके बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा था कि पीड़ित परिवार चाहे तो सरकार मामले की सीबीआई से कराने के लिए तैयार है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...