• ASEAN बैठक में बोले राजनाथ सिंह, भारत वसुधैव कुटुंबकम को मानने वाला, पूरी दुनिया एक परिवार है

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, भारत इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी व्यवस्था का आह्वान करता है जो राष्ट्रों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता पर आधारित हो और विवादों का समाधान अंतर्राष्ट्रीय नियमों और कानूनों के माध्यम से बातचीत से शांतिपूर्वक हो।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक को संबोधित किया। ADMM Plus एक महत्वपूर्ण मंच है जिसमें 10 आसियान सदस्य देश और 8 डायलॉग पार्टनर ऑस्ट्रेलिया, चीन, भारत, जापान, न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया, रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका शामिल हैं। ASEAN रक्षा मंत्रियों की बैठक में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, भारत की अवधारणा 'वसुधैव कुटुंबकम' है। पूरी दुनिया एक परिवार है।ये और प्रासंगिक हो गई है। वर्तमान क्षेत्रिय और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा माहौल को देखते हुए अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के सामने नई चुनौतियां पैदा हो गई हैं।

इसे भी पढ़ें: चिराग पासवान के समर्थकों ने पशुपति कुमार पारस सहित पांच सांसदों के पोस्टरों पर कालिख पोती

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, भारत इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी व्यवस्था का आह्वान करता है जो राष्ट्रों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता पर आधारित हो और विवादों का समाधान अंतर्राष्ट्रीय नियमों और कानूनों के माध्यम से बातचीत से शांतिपूर्वक हो। रक्षामंत्री ने आगे कहा कि, दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के साथ भारत का जुड़ाव नवंबर 2014 में पीएम मोदी द्वारा घोषित 'एक्ट ईस्ट पॉलिसी' पर आधारित है। इस नीति के महत्वपूर्ण तत्व आर्थिक सहयोग और सांस्कृतिक संबंध बढ़ाना और इंडो पैसिफिक क्षेत्र के देशों के साथ रणनितिक संबंध स्थापित करना है। ASEAN रक्षा मंत्रियों को संबोधित करते हुए कहा कि,आतंकवाद और कट्टरपंथ दुनिया की सुरक्षा और शांति के लिए खतरा हैं जिनका आज दुनिया सामना कर रही है। भारत विश्वास करता है कि सिर्फ सामूहिक सहयोग से ही आतंकी संगठनों और उनके नेटवर्क को पूरी तरह नष्ट किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: Covishield वैक्सीन के बीच अंतराल बढ़ाने पर सरकार ने दी सफाई!

इस बैठक की मेजबानी ब्रुनेई रक्षा मंत्रालय कर रहा है।बता दें कि ब्रुनेई इस साल आसियान समूह के अध्यक्ष हैं और सभी बैठकें करेंगे।