राजनाथ सिंह ने अमेरिकी नौसैन्य हवाई अड्डे पर लड़ाकू विमानों का प्रदर्शन देखा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 18, 2019   11:13
राजनाथ सिंह ने अमेरिकी नौसैन्य हवाई अड्डे पर लड़ाकू विमानों का प्रदर्शन देखा

वायुसेना अड्डे पर सिंह का दौरा खास माना जा रहा है कि क्योंकि इससे ऐसे संकेत मिलते हैं कि भारत वायुसेना और नौसेना के लिए लड़ाकू विमान के संबंध में इन विकल्पों को भी गंभीरता से देख रहा है।

वाशिंगटन। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिका के वर्जीनिया में नॉरफॉक स्थित नौसैन्य हवाई अड्डे का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने बोईंग लड़ाकू विमानों का प्रदर्शन भी देखा और दोनों पक्षों ने मजबूत रक्षा संबंध भी जाहिर किए। सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर बुधवार को होने वाली दूसरी 2 प्लस 2 वार्ता के लिए अमेरिका आए हैं। अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने उनकी अगवानी की।

सिंह ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘‘अमेरिका के नॉरफॉक में नौसैन्य हवाई अड्डा ओशियाना का दौरा किया और अत्याधुनिक वाणज्यिक विमान प्रदर्शनी और लड़ाकू एवं हमलावर विमान 18ई का प्रदर्शन देखा।’’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘‘नॉरफॉक के नौसैन्य अड्डे पर मुझे निमिट्ज श्रेणी के यूएसएस ड्वाइट डी. आईजनहॉवर विमान वाहक में सवार होने का अवसर मिला। हमने भारत और अमेरिका के बीच मजबूत रक्षा संबंध जाहिर किए।’’ वायुसेना अड्डे पर सिंह का दौरा खास माना जा रहा है कि क्योंकि इससे ऐसे संकेत मिलते हैं कि भारत वायुसेना और नौसेना के लिए लड़ाकू विमान के संबंध में इन विकल्पों को भी गंभीरता से देख रहा है।

इसे भी पढ़ें: CAA के विरोध में पश्चिम बंगाल, असम में कोई हिंसा नहीं, राजनीतिक प्रदर्शन जारी

‘‘बोइंग डिफेन्स, स्पेस एंड सिक्योरिटी’’ की एक शाखा ‘‘स्ट्राइक, सर्विलान्स एंड मोबिलिटी, ग्लोबल सेल्स एंड मार्केटिंग’’ के उपाध्यक्ष थॉम ब्रेकेनरिज ने हाल में एक साक्षात्कार में कहा था, ‘‘भारत के विमान वाहकों के साथ एफ/ए-18 का जुड़ाव ‘प्रमुख रक्षा साझेदार’ बनने के भारत के संकल्प और एशिया पेसिफिक रिएश्योरेंस पहल की बानगी होगा। यह अमेरिका और भारत के बीच नए संबंधों का एक महत्वपूर्ण प्रतीक बनेगा।’’ उन्होंने यह भी कहा था कि भारत में बोइंग भारतीय वायुसेना और नौसेना को रखरखाव एवं प्रशिक्षण सेवा मुहैया करवा रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।