किसान मोर्चे की बैठक से पहले बोले राकेश टिकैत- MSP भी एक बड़ा सवाल, अभी करेंगे बातचीत

किसान मोर्चे की बैठक से पहले बोले राकेश टिकैत- MSP भी एक बड़ा सवाल, अभी करेंगे बातचीत

शुक्रवार को पीएम मोदी ने तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला सुनाया था और देश से माफी मांगते हुए इन्हें निर्सत करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से जुड़े मुद्दों पर विचार करने के लिए एक समिति बनाने की घोषणा की।

प्रधानमंत्री द्वारा तीनों कृषि कानून को वापस लेने के ऐलान के बाद शनिवार को किसान मोर्चे की बैठक होगी। इस बैठक से पहले गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि, MSP भी एक बड़ा सवाल है, उस पर भी क़ानून बन जाए, क्योंकि किसान जो फसल बेचता है उसे वह कम कीमत पर बेचता है, जिससे बड़ा नुक़सान होता है। अभी बातचीत करेंगे, यहां से कैसे जाएंगे। अभी बहुत से क़ानून सदन में है, उन्हें फिर ये लागू करेंगे। 

राकेश टिकैत ने आगे कहा कि, MSP पर हम बातचीत करना चाहते हैं। आज संयुक्त किसान मोर्चा की मीटिंग है। जो भी उसमें निर्णय लिया जाएगा उसके बाद ही हम कोई बयान देंगे।आपको बता दें कि, पीएम मोदी द्वारा किसान बिल वापस लेने के बावजुद किसान अपना प्रदर्शन बंद नहीं करेंगे। टिकैत के मुताबिक, अभी किसान घर वापस नहीं जाएंगे, जब तक दूसरे मुद्दों पर सरकार बैठकर बातचीत नहीं करती। 

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल की पंजाब यात्रा 22 नवंबर तक के लिये स्थगित

शुक्रवार को पीएम मोदी ने तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला सुनाया था और देश से माफी मांगते हुए इन्हें निर्सत करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से जुड़े मुद्दों पर विचार करने के लिए एक समिति बनाने की घोषणा की। पीएम मोदी ने गुरु नानक जयंती के अवसर पर राष्ट्र के नाम संबोधन किया था और विवादास्पद कानूनों का विरोध कर रहे किसानों से अपना आंदोलन खत्म करने की गुजारिश की थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।