अप्रैल 2022 तक तैयार होगा राम मंदिर का फर्स जिस पर होगा मंदिर निर्माण

अप्रैल 2022 तक तैयार होगा राम मंदिर का फर्स जिस पर होगा मंदिर निर्माण

राम मंदिर के लिए नवंबर माह से प्लिंथ व बेस का निर्माण शुरू होगा।मंदिर निर्माण के लिए बनाई गई फाउंडेशन पर 15 ब्लॉक बनाए गए हैं। जिन्हें कंक्रीट के मसालों से भराई का कार्य किया जा रहा है। लगभग 7 ब्लॉक का कार्य पूरा हो चुका है।

अयोध्या। राम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण को लेकर तीसरे चरण का कार्य नवंबर माह से शुरू हो रहा है। जिसको लेकर पत्थरों की आपूर्ति का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। लेकिन उसके पूर्व दूसरे चरण के राफ्ट निर्माण का कार्य किया जा रहा है। मंदिर निर्माण के लिए बनाई गई फाउंडेशन पर 15 ब्लॉक बनाए गए हैं। जिन्हें कंक्रीट के मसालों से भराई का कार्य किया जा रहा है। लगभग 7 ब्लॉक का कार्य पूरा हो चुका है।

इसे भी पढ़ें: राम मंदिर परिसर पर जब मडराने लगा हैलीकॉप्टर, सुरक्षा एजेंसियों में मचा हड़कंप

राम जन्म भूमि परिसर में मंदिर निर्माण के लिए तीसरे चरण में मंदिर के प्लिंथ व बेस निर्माण कार्य किया जाएगा। मिली जानकारी के मुताबिक जिसके लिए पत्थरों की आपूर्ति का कार्य शुरू कर दिया गया है। प्लिंथ निर्माण के लिए मिर्जापुर से 4 फुट लंबी और 2 फुट चौड़ी पत्थरों के ब्लाक को 30 हजार की मात्रा में लगाए जाएंगे। जिसे ट्रकों के माध्यम से अयोध्या तक पहुंचाया जा रहा है। इसके लिए छोटी बड़ी 19 कंपनियों को पत्थरों की आपूर्ति का कार्य मिर्जापुर से अयोध्या तक लाने के लिए लगाए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: अयोध्या में विराजती है माता सीता की कुल देवी, जहां दर्शन मात्र से पूरी होती है मनोकामना

वही राम मंदिर निर्माण से पहले वाले बेस निर्माण के लिए 4500 स्क्वायर फुट में 10000 से अधिक ग्रेनाइट पत्थरों का प्रयोग किया जाएगा। जिसकी जोधपुर बैंग्लोर से आपूर्ति ट्रकों के माध्यम से किया जा रहा है। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की माने तो ग्रेनाइट पत्थर से ही मंदिर के फर्स को तैयार किया जाएगा। जिस पर मार्बल के पत्थर भी लगाए जाएंगे। जिसका कार्य अप्रैल माह तक पूरा किए जाने का लक्ष्य है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...