रथयात्रा ईश्वर के लिए होती है न कि दंगों में संलिप्त होने के लिए: ममता

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Dec 28 2018 8:18PM
रथयात्रा ईश्वर के लिए होती है न कि दंगों में संलिप्त होने के लिए: ममता

ममता ने जन वितरण कार्यक्रम में यहां कहा, ‘‘भगवान कृष्ण और भगवान जगन्नाथ के लिए रथ यात्रायें होती हैं, उन रथ यात्राओं में हम सब हिस्सा लेते हैं। जो लोग आम लोगों को मारने के लिए यात्रा निकालते हैं वे ‘दंगा’ यात्राओं में शामिल होते हैं।’

सागर द्वीप(प. बंगाल)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में भारतीय जनता पार्टी की प्रस्तावित रथयात्रा को ले कर उसपर तीखा हमला करते हुए शुक्रवार को कहा कि ऐसी रथ यात्रायें भगवान के लिए निकाली जाती हैं और ‘‘दंगों’’ के लिए नहीं निकाली जाती हैं। भाजपा ने राज्य में रथयात्रा की अनुमति नहीं देने के कलकत्ता उच्च न्यायालय के फैसले को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी है। शीर्ष अदालत ने सोमवार को इसपर तत्काल सुनवाई करने से मना कर दिया। 

 


ममता ने जन वितरण कार्यक्रम में यहां कहा, ‘‘भगवान कृष्ण और भगवान जगन्नाथ के लिए रथ यात्रायें होती हैं, उन रथ यात्राओं में हम सब हिस्सा लेते हैं। जो लोग आम लोगों को मारने के लिए यात्रा निकालते हैं वे ‘दंगा’ यात्राओं में शामिल होते हैं।’’उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी का अपमान नहीं करते हैं। हम सबका आदर करते हैं चाहे वे किसी भी धर्म के हों।’’ भाजपा की तीन चरणों में प्रस्तावित ‘रथ यात्रा’ प्रदेश के सभी 42 लोकसभा सीटों से गुजरेगी। इसे ‘‘लोकतंत्र बचाओ रैली’’ का भी नाम दिया गया है। 
 
 
ममता ने ‘‘भोगी’’ करार देते हुए भाजपा नेताओं पर हमला करते हुए कहा कि इस पार्टी को यह तय करने का कोई अधिकार नहीं है कि लोग किस धर्म का पालन करें। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ये कथित योगी, योगी नहीं बल्कि भोगी हैं। उनलोगों ने लोगों को अचानक धर्म पर फरमान देना शुरू कर दिया है। यह तय करने वाले वे कौन होते हैं?’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरा धर्म मेरी पसंद का है। हमलोग धर्मनिरपेक्ष हैं। हम सभी ईश्वर की प्रार्थना करते हैं और सभी धर्मों का आदर करते हैं। हम हिंदू धर्म से उतना ही प्यार करते हैं जितना इस्लाम, सिख और इसाई धर्म से।’’

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story

Related Video