त्रिपुरा में 168 मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान, सुप्रीम कोर्ट पहुंचे विपक्षी दल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 9 2019 8:10AM
त्रिपुरा में 168 मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान, सुप्रीम कोर्ट पहुंचे विपक्षी दल
Image Source: Google

मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीराम तरनीकांति ने कहा कि इस लोकसभा सीट के 30 विधानसभा क्षेत्रों में से 26 के 168 मतदान केंद्रों पर 12 मई को पुनर्मतदान होगा।

अगरतला। चुनाव आयोग द्वारा त्रिपुरा में पश्चिमी त्रिपुरा लोकसभा सीट के 168 मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान का आदेश दिये जाने के बाद विपक्षी दल माकपा ने बुधवार को कहा कि उसने पूरे निर्वाचन क्षेत्र में फिर से चुनाव कराने की मांग करते हुए उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की है। इस भाजपा शासित राज्य के दूसरे विपक्षी दल कांग्रेस ने भी दावा किया कि वह भी बृहस्पतिवार को शीर्ष अदालत में ऐसी ही याचिका दायर करेगी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीराम तरनीकांति ने कहा कि इस लोकसभा सीट के 30 विधानसभा क्षेत्रों में से 26 के 168 मतदान केंद्रों पर 12 मई को पुनर्मतदान होगा।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने भाजपा द्वारा गोपनीय दस्तावेजों को एक्सेस करने की शिकायत आयोग से की

इस संसदीय क्षेत्र में 11 अप्रैल को चुनाव हुआ था । माकपा और कांग्रेस ने भाजपा पर बड़े पैमाने पर गड़बड़ी करने का आरोप लगाते हुए पूरे संसदीय क्षेत्र में फिर से चुनाव कराने की मांग की थी। वाममोर्चा के अध्यक्ष बिजन धर ने कहा कि हमने पश्चिम त्रिपुरा में फिर से चुनाव कराने की मांग की थी क्योंकि ज्यादातार लोग भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा गड़बड़ी और हिंसा फैलाये जाने के कारण वोट नहीं डाल पाये थे। मतदाता केवल कुछ ही मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान कराने के चुनाव आयोग के आदेश से ठगा सा महसूस कर रहे हैं। हमने आज उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर कर पूरे निर्वाचन क्षेत्र में फिर से चुनाव कराने की मांग की।

इसे भी पढ़ें: पूर्वी त्रिपुरा सीट के लिए मंगलवार को होंगे मतदान, 85% पोलिंग बूथ पर CAPF की तैनाती



धर के अनुसार पश्चिम त्रिपुरा सीट से माकपा प्रत्याशी शंकर प्रसाद दत्ता ने चुनाव आयोग के फैसले को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रद्युत किशोर देबबर्मन ने कहा कि उनकी पार्टी ने याचिका का मसौदा तैयार कर लिया है और बृहस्पतिवार को उच्चतम न्यायाय में याचिका दायर करेगी। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता अशोक सिन्हा ने कहा कि चुनाव आयोग जज है और उसे पुनर्मतदान की घोषणा करने का पूरा अधिकार है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video