चीन के ग्वांगझू में कोरोना वायरस संक्रमण के कुछ मामले आने के बाद पाबंदी लागू

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 29, 2021   13:56
चीन के ग्वांगझू में कोरोना वायरस संक्रमण के कुछ मामले आने के बाद पाबंदी लागू

चीन के दक्षिणी प्रांत ग्वांगझू के कुछ इलाकों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बाद शनिवार को कई गतिविधियों पर पाबंदी लगा दी गयी और लोगों से अपने घरों में रहने को कहा गया है।

बीजिंग। चीन के दक्षिणी प्रांत ग्वांगझू के कुछ इलाकों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बाद शनिवार को कई गतिविधियों पर पाबंदी लगा दी गयी और लोगों से अपने घरों में रहने को कहा गया है। हांगकांग के उत्तर में स्थित 1.5 करोड़ की आबादी वाले कारोबारी और औद्योगिक केंद्र ग्वांगझू में पिछले सप्ताह से कोरोना वायरस संक्रमण के 20 नए मामले आए हैं। भारत के कई शहरों में रोजाना आ रहे हजारों नए मामलों की तुलना में ये संख्या बहुत कम हैं लेकिन चीनी अधिकारी इसलिए एहतियात बरत रहे हैं क्योंकि उनका मानना है कि देश में संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने अदालत में कहा, नवनीत कालरा ने ‘सफेदपोश अपराध’ को अंजाम दिया

‘ग्लोबल टाइम्स’ अखबार ने स्वास्थ्य अधिकारियों के हवाला से कहा है कि संक्रमण तेज रफ्तार से फैला है। ग्वांगझू के लीवान जिले के पांच इलाके के लोगों की जांच करायी जा रही है। बाजार, बाल देखभाल केंद्र और मनोरंजन केंद्र बंद कर दिए गए हैं। रेस्तरां में भी लोगों के आने पर पाबंदी लगा दी गयी हैं। जिले के चार इलाके के लोगों से घरों में ही रहने को कहा गया है।

इसे भी पढ़ें: अरविंद केजरीवाल ने कहा- कोरोना वायरस की दूसरी लहर में पहली बार दिल्ली में एक हजार से कम मामले

चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 91,061 मामले आए हैं और 4636 लोगों की मौत हुई है। चीन के अधिकारियों का मानना है कि विदेश से आने वाले लोग ही संक्रमित हो रहे हैं और स्थानीय स्तर पर संक्रमण के कम मामले हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने शनिवार को कहा कि ग्वांगझू में स्थानीय स्तर पर दो नए मामले आए और 14 मामले देश के दूसरे इलाके से आए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...