• कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ने के बाद फिर लगी पाबंदी, पर्यटकों को आधे घंटे से ज्यादा रुकने की अनुमति नहीं

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच इस तरह की भीड़ परेशान करने वाली हैं। तभी तो उत्तराखंड के मशहूर टूरिस्ट स्पॉट मसूरी में अब पाबंदियां लगा दी गई हैं।

देहरादून। कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर अभी पूरी तरह समाप्त भी नहीं हुई कि लोगों ने भीड़भाड़ मचाना शुरू कर दिया। भीषण गर्मी और कोरोना प्रतिबंधों में छूट मिलने के साथ ही वादियों में भार बढ़ गया और तो और यात्रियों ने कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाईं। कई सारी तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं। जिनमें साफ-साफ देखा जा सकता है कि लोग कितने बेपरवाह हो गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: चारधाम यात्रा को लेकर उत्तराखंड सरकार ने HC के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका 

बिना मास्क, बिना शारीरिक दूरी के लोग पहाड़ों में मजे कर रहे हैं। लेकिन यह मजा आने वाले समय में सजा न बन जाए। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच इस तरह की भीड़ परेशान करने वाली हैं। तभी तो उत्तराखंड के मशहूर टूरिस्ट स्पॉट मसूरी में अब पाबंदियां लगा दी गई हैं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मसूरी में अब पर्यटकों पर पाबंदी लगाई गई है। प्रशासन द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के मुताबिक मसूरी के केम्प्टी फॉल्स में एक बार में महज 50 पर्यटकों को ही जाने की अनुमति होगी। इसके अलावा पर्यटक वहां पर आधे घंटे से ज्यादा नहीं रुकेंगे। 

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड के 11वें मुख्यमंत्री बने पुष्कर सिंह धामी, सतपाल महाराज और हरक सिंह रावत ने ली मंत्री पद की शपथ 

टिहरी गढ़वाल के जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना वायरस फैलने की आशंका को देखते हुए यह निर्णय लिए गए हैं। सोशल मीडिया पर मसूरी के केम्प्टी फॉल का वीडियो वायरल हुआ। जिसमें पर्यटक बिना मास्क के घूमते हुए देखे जा सकते हैं।