मॉब लिंचिंग पर आजाद ने PM को घेरा, बोले- हमें पुराना भारत लौटा दीजिए

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 24 2019 8:38PM
मॉब लिंचिंग पर आजाद ने PM को घेरा, बोले- हमें पुराना भारत लौटा दीजिए
Image Source: Google

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अपने न्यू इंडिया को अपने पास रखिए किंतु हमारा वह पुराना भारत लौटा दीजिए जहां प्यार की संस्कृति थी।

नयी दिल्ली। भाजपा नीत सरकार पर प्रहार करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने सोमवार को दावा किया कि ‘न्यू इंडिया में आदमी आदमी से डरा हुआ है’, महात्मा गांधी के हत्यारे की प्रशंसा करने वाले सत्तारूढ़ दल में हैं तथा घृणा एवं पीट पीटकर हत्या करने की घटनाएं चरम पर हैं। आजाद ने कहा कि अपने न्यू इंडिया को अपने पास रखिए किंतु हमारा वह पुराना भारत लौटा दीजिए जहां प्यार की संस्कृति थी, जहां कोई घृणा और पीट पीटकर हत्या करने की घटना नहीं होती थी, जहां हिन्दू एवं मुस्लिम एक दूसरे का दर्द महसूस करते थे।

इसे भी पढ़ें: राज्यसभा में बोले गुलाम नबी आजाद, गांधी जी के हत्यारे को देश भक्त बुलाने वाले पर कार्यवाई नहीं हुई।

उच्च सदन में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने राष्ट्रपति अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान यह बात कही। महात्मा गांधी के हत्यारे की प्रशंसा करने के बारे में आजाद ने जो बात कही उनका संकेत भोपाल संसदीय क्षेत्र से निर्वाचित भाजपा की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के उस बयान की ओर था जो उन्होंने गोडसे के बारे में दिया था। बाद में स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी कड़ी निंदा की थी और ठाकुर ने अपने इस बयान पर खेद जताया था। आजाद ने कहा कि राष्ट्रपति अभिभाषण की शुरूआत महात्मा गांधी के 150वीं जयंती वर्ष के उल्लेख के साथ की गई। उन्होंने कहा कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा की एक प्रत्याशी ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले की तारीफ की, उसे देशभक्त बताया।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री से शिकायत है कि ऐसे प्रत्याशी को उन्हें पार्टी से तुरंत बर्खास्त कर देना चाहिए था। आजाद ने 1950 के दशक में प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा शिकायत मिलने पर कांग्रेस के एक प्रत्याशी को बर्खास्त कर साफ छवि वाले एक निर्दलीय उम्मीदवार को पार्टी का समर्थन देने का ऐलान करने की घटना का उल्लेख किया। उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि उनके पास अभी भी मौका है कि वह अक्तूबर में गांधी जयंती से पहले उन्हें (संबंधित सांसद को) बर्खास्त कर दें। नेता प्रतिपक्ष जब यह बात कह रहे थे तब सदन में प्रधानमंत्री मौजूद थे। 



इसे भी पढ़ें: एक राष्ट्र, एक चुनाव का ज्यादातर पार्टियों ने किया समर्थन: सरकार

आजाद ने दावा किया कि सत्तारूढ़ पार्टी पर यह दाग हमेशा रहेगा। इससे पहले धन्यवाद प्रस्ताव पेश करते हुए भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सदन चलाने के लिए विपक्ष से सहयोग मांगा और विपक्षी दलों को इस बात पर विचार करने का परामर्श दिया कि क्या उनका रास्ता सही है। आजाद ने उनके इस सुझाव पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र, समाजवाद, संघवाद और बहुसंख्यकवाद में विश्वास करती है। उन्होंने कहा कि भारत की एकता, अखंडता, स्वतंत्रता एवं मान सम्मान और अस्तित्व के लिए यह जरूरी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसी रास्ते पर चलती रहेगी और चुनाव में हार जीत से उसका रास्ता नहीं बदल सकता।

उन्होंने भाजपा नीत राजग को लोकसभा चुनाव में मिली सफलता की बधाई देते हुए कहा कि कांग्रेस सत्तारूढ़ दल की राह पर नहीं चल सकती। उन्होंने कहा कि भले ही इस राह पर चल कर उन्हें जीत मिली हो, पर देश हार गया है। आजाद ने कहा कि इस समय देश में टेलीविजन पर सरकार चल रही है। उन्होंने यह भी कहा कि यह सरकार बहुत बड़े बड़े दावे करती है। राष्ट्रपति अभिभाषण में महिला सशक्तिकरण के लिए सरकार द्वारा किए गए विभिन्न प्रयासों के उल्लेख का हवाला देते हुए आजाद ने कहा कि भाजपा सरकार में महिलाओं की क्या स्थिति है, यह पिछले पांच साल में देश में बच्चियों के साथ बढ़ती बलात्कार की घटनाओं से स्पष्ट हो जाता है।

इसे भी पढ़ें: ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर PM मोदी की बैठक आज, ममता नहीं होंगी शामिल

उन्होंने कहा कि 2014 से 2016 के बीच में भाजपा सरकार के शासनकाल में महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाओं में 83 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है। देश में हर एक घंटे में महिलाओं के खिलाफ 39 अपराध हो रहे हैं।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video