सबरीमाला के मुख्य पुजारी को हटाने पर नहीं हुई चर्चा: टीडीबी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 11 2019 8:39PM
सबरीमाला के मुख्य पुजारी को हटाने पर नहीं हुई चर्चा: टीडीबी

टीडीबी के अध्यक्ष ए पद्मकुमार ने बताया कि मंदिर के तंत्री (मुख्य पुजारी) की नियुक्ति और अधिकारों को लेकर कई अदालतों के फैसले हैं और इन सब पर विचार किये बिना बोर्ड फैसला नहीं ले सकता।

तिरूवनंतपुरम। केरल में एलडीएफ सरकार द्वारा सबरीमला के मुख्य पुजारी को हटाए जाने की खबरों के बीच त्रावणकोर देवस्वओम बोर्ड ने शुक्रवार को कहा कि उसने मामले पर चर्चा नहीं की है और आगामी मकरविलक्कू उत्सव में बाधा डालने के लिए विवाद पैदा किया जा रहा है। मंदिर का प्रबंधन देखने वाली शीर्ष इकाई त्रावणकोर देवस्वओम बोर्ड (टीडीबी) के अध्यक्ष ए पद्मकुमार ने पीटीआई- बताया कि मंदिर के तंत्री (मुख्य पुजारी) की नियुक्ति और अधिकारों को लेकर कई अदालतों के फैसले हैं और इन सब पर विचार किये बिना बोर्ड फैसला नहीं ले सकता।

इसे भी पढ़ें: BJP का केरल सरकार पर आरोप, कहा- सबरीमाला पर हिंसा भड़काई

हालांकि, राज्य में मंदिरों के मुख्य पुजारियों के प्रधान संगठन ‘केरल तंत्री समाजम’ ने बृहस्पतिवार को कहा कि अगर एलडीएफ सरकार ने सबरीमला के तंत्री कंदाररू राजीवरू को हटाने के लिए कोई फैसला किया तो वे उच्चतम न्यायालय और केंद्र सरकार के पास जाएंगे। राजीवरू मुख्यमंत्री पिनराई विजयन, देवस्वओम मंत्री कडाकमपल्ली सुरेंद्रण और अन्य मंत्रियों की आलोचना का सामना कर रहे हैं। रजस्वला उम्र की दो महिलाओं के मंदिर में प्रवेश करने के बाद मंदिर का ‘शुद्धिकरण’ करने के लिए राजीवरू की आलोचना हो रही है।

इसे भी पढ़ें: लोकसभा में उठा सबरीमाला का मुद्दा, विपक्ष और भाजपा में आरोप-प्रत्यारोप



पद्मकुमार ने कहा कि बोर्ड ने राजीवरू को हटाने पर चर्चा नहीं की है। हमने केवल तंत्री को नोटिस भेजकर शुद्धिकरण कार्यक्रम के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा है। उनके जवाब का इंतजार है। अब सारा ध्यान 14 जनवरी के मकरविलक्कू पर है। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ निहित हित वाले लोग मकरविलक्कू के दौरान विवाद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story

Related Video