संजय राउत को टिप्पणी करने से पहले थोड़ा सोचना चाहिए: बालासाहेब थोराट

Balasaheb Thorat
शिवसेना महाराष्ट्र में कांग्रेस और राकांपा के साथ सत्ता में साझेदार है लेकिन वह कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन का हिस्सा नहीं है। राउत ने 20 मार्च को कहा कि यह वक्त की मांग है कि संप्रग को मजबूत किया जाए ताकि वह भाजपा के मजबूत विकल्प के तौर पर सामने आए और पवार को संप्रग अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए।

मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत द्वारा राकांपा प्रमुख शरद पवार को संप्रग अध्यक्ष बनाने की सलाह देने के बाद महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री और कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट ने मंगलवार को कहा कि राउत को कोई भी टिप्पणी करने से पहले थोड़ा सोचना चाहिए। शिवसेना महाराष्ट्र में कांग्रेस और राकांपा के साथ सत्ता में साझेदार है लेकिन वह कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन का हिस्सा नहीं है। राउत ने 20 मार्च को कहा कि यह वक्त की मांग है कि संप्रग को मजबूत किया जाए ताकि वह भाजपा के मजबूत विकल्प के तौर पर सामने आए और पवार को संप्रग अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए। यहां पत्रकारों से बातचीत में थोराट ने कहा कि सोनिया गांधी ‘‘लंबे वक्त तक संप्रग की प्रमुख बनी रहेंगी।’’ 

इसे भी पढ़ें: मैने आगाह किया था कि वाजे महाराष्ट्र सरकार के लिये समस्या खड़ी कर सकते हैं : राउत

राउत की टिप्पणियों के बारे में पूछने पर मंत्री ने कहा, ‘‘राउत वरिष्ठ नेता हैं। उन्हें कोई भी टिप्पणी करने से पहले थोड़ा सोचना चाहिए।’’ शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ ने भी हाल ही में एक संपादकीय में यह कहकर बवाल खड़ा कर दिया था कि अगर पवार संप्रग अध्यक्ष बनते हैं तो इससे गठबंधन को फायदा होगा। महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं ने हाल ही में शिवसेना नेता से ऐसी टिप्पणियां करने से बचने को कहा था। उनके अनुसार, शिवसेना तो संप्रग का हिस्सा भी नहीं हे। कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा था कि क्या राउत पवार के प्रवक्ता हैं? राउत ‘सामना’ के कार्यकारी संपादक हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़