Prabhasakshi's Newsroom। दिग्विजय सिंह ने बताया 'गद्दार' तो सिंधिया ने दिया ये करारा जवाब

Jyotiraditya Scindia
अनुराग गुप्ता । Dec 06, 2021 12:59PM
केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिग्विजय सिंह पर पलटवार करते हुए कहा कि बुजुर्ग हो गए हैं, उनकी पोल खोलना नहीं चाहता हूं। उन्होंने कहा कि वह उनके स्तर तक नहीं गिरना चाहते हैं। जो लोग ओसामा को 'ओसामा जी' कहते हैं और कहते हैं कि सत्ता में आने पर वे धारा 370 को बहाल करेंगे।
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने विधायकों के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने पर केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमला करते हुए उन्हें गद्दार बताया था। जिसको लेकर 'महाराज' ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि जो लोग ओसामा को 'ओसामा जी' कहते हैं और कहते हैं कि सत्ता में आने पर वे धारा 370 को बहाल करेंगे... यह तो जनता तय करेगी कि कौन 'गद्दार' है।

स्तर नहीं गिरा सकते महाराज

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिग्विजय सिंह पर पलटवार करते हुए कहा कि बुजुर्ग हो गए हैं, उनकी पोल खोलना नहीं चाहता हूं। उन्होंने कहा कि वह उनके स्तर तक नहीं गिरना चाहते हैं। जो लोग ओसामा को 'ओसामा जी' कहते हैं और कहते हैं कि सत्ता में आने पर वे धारा 370 को बहाल करेंगे। जनता तय करेगी कि कौन गद्दार है, कौन नहीं।

दिग्विजय ने सिंधिया को बताया गद्दार

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने विधायकों के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने पर केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमला करते हुए उन्हें गद्दार बताया था। दिग्विजय ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार तो बन गई थी। सिंधिया जी छोड़कर चले गए और 25-25 करोड़ रुपए ले गए एक-एक विधायक का। अरे कांग्रेस के साथ गद्दारी कर गए। इसका मैं क्या करूं। किसने सोचा था। जनता ने तो कांग्रेस की सरकार बनवा दी थी।

उन्होंने कहा था कि इतिहास इस बात का साक्षी है। एक व्यक्ति गद्दारी करता है, तो उसकी पीढ़ी दर पीढ़ी गद्दारी पे गद्दारी करती है। सिंधिया के कट्टर समर्थक माने जाने वाले पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि आज दिग्विजय को सिंधिया में तमाम प्रकार की बुराइयां एवं दोष नजर आते हैं। जब सिंधिया कांग्रेस पार्टी में थे तब वह उनके आगे-पीछे घूमा करते थे और उनकी तारीफें किया करते थे। मुझे दिग्विजय की सोच पर तरस आता है। दिग्विजय जी गद्दारी तो आपने एवं कमलनाथ ने की है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़