बेटे के निकाह में पिता के 10 साल पहले किए हुए कारनामे की खुल गई पोल, फिर बेटे ने किया कुछ ऐसा

बेटे के निकाह में पिता के 10 साल पहले किए हुए कारनामे की खुल गई पोल, फिर बेटे ने किया कुछ ऐसा

मामला जगदीशपुरा क्षेत्र का है। पुलिस जगदीशपुरा प्रवींद्र कुमार सिंह के मुताबिक, बोदला निवासी अली मोहम्मद ने दो निकाह किए हैं जिसकी जानकारी उनके घरवालों को नहीं थी। पहली पत्नी मोसिमा से तीन बेटे और दो बेटियां है जिसमें से दोनों बेटियों और बेटे की शादी हो चुकी है।

बेटे की निकाह पर पता चला की पिता ने दो शादी कर रखी है। इसकी खबर मिलने के बाद परिवार वाले काफी चौंक गए और शादी तक चुप रहे। बेटे का निकाह जैसे ही खत्म हुआ सभी परिजन पिता के दुसरी पत्नी के घर पहुंच गए और वहां मारपीट की। इस मारपीट में दूसरी पत्नी समेत चार लोग घायल हो गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर दिया है और दो लोगों को गिरफ्तार किया है। बता दें कि, मामला जगदीशपुरा क्षेत्र का है। पुलिस जगदीशपुरा प्रवींद्र कुमार सिंह के मुताबिक, बोदला निवासी अली मोहम्मद ने दो निकाह किए हैं जिसकी जानकारी उनके घरवालों को नहीं थी। पहली पत्नी मोसिमा से तीन बेटे और दो बेटियां है जिसमें से दोनों बेटियों और बेटे की शादी हो चुकी है। दूसरे बेटे का निकाह कराया जा रहा था जिसमें यह पता चला कि, उसके पिता ने दस साल पहले ही एक और निकाह कर लिया था जिसकी खबर पहली पत्नी और बच्चों को बिल्कुल नहीं थी। दूसरी पत्नी से भी दो बच्चे हुए। 

 

पुलिस के अनुसार, बेटे के निकाह में रिश्तेदार और पहचान के लोग आए हुए थे। कुछ लोग दूसरी पत्नी के निवास जय नगर से भी पहुंचे हुए थे जहां अली मोहम्मद को देखकर लोग हैरान हो गए। शादी में सब लोग बातें करने लगे। जब इसकी जानकारी पहली पत्नी मोसिमा को मिली की उसके पति ने दो शादी कर रखी है और दूसरी बेगम जय नगर में रहती है। यह सुनते ही पहली पत्नी काफी हैरान हुई और बच्चों को भी इसकी जानकारी मिल गई। पति ने बाद में अपनी पत्नी और बच्चों को सबकुछ बताया। गुस्से में परिवारवालों ने दूसरी पत्नी के घर पर धावा बोल दिया और मारपीट शुरू कर दी। पहली पत्नी के घरवालों ने दूसरी पत्नी पर पत्थर मारे और इस मारपीट में मरियम, सत्यप्रकाश, संपत और राहुल जख्मी हो गए।दूसरी पत्नी मरियम ने बाद में पुलिस में मामला दर्ज कराया जिसके बाद मारपीट में शामिल रुखसार व रेशमा को अरेस्ट कर लिया गया। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।