धर्मनिरपेक्षता का चोला, साम्प्रदायिकता का झोला कांग्रेस की नयी पहचान: नकवी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 26, 2018   14:19
धर्मनिरपेक्षता का चोला, साम्प्रदायिकता का झोला कांग्रेस की नयी पहचान: नकवी

मंत्री ने आरोप लगाया कि धर्मनिरपेक्षता का चोला, साम्प्रदायिकता का झोला ही ग्रैंड ओल्ड कांग्रेस पार्टी की ब्रांड न्यू पहचान बन गयी है।

 नयी दिल्ली। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने सोमवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि "धर्मनिरपेक्षता का चोला, साम्प्रदायिकता का झोला" ही "ग्रैंड ओल्ड कांग्रेस पार्टी की ब्रांड न्यू पहचान" बन गयी है। नकवी ने अल्पसंख्यक समाज की एक बैठक में मुख्य विपक्षी दल पर तंज कसते हुए कहा, 'रूम में टोपी, रोड पे तिलक के जरिये "सेक्युलर सियासत पर कम्युनल तड़का" लगाने का इतिहास रहा है। आज भी वह इसी राह पर है।'

मंत्री ने आरोप लगाया कि धर्मनिरपेक्षता का चोला, साम्प्रदायिकता का झोला" ही "ग्रैंड ओल्ड कांग्रेस पार्टी की ब्रांड न्यू पहचान" बन गयी है। उन्होंने कहा, "समावेशी-सर्वस्पर्शी विकास भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रनीति है। हम इसी संकल्प के साथ भारत को विश्व गुरु बनाने के रास्ते पर आगे ले जा रहे हैं।'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कांग्रेस के कुछ नेताओं के कथित विवादित बयानों की ओर इशारा करते हुए भाजपा नेता ने कहा, 'जिस तरह की भाषा कांग्रेस के नेता बोल रहे हैं, उससे उनकी मानसिक स्थिति का आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है।"

नकवी ने कहा, " केंद्र की मोदी सरकार ने अपने पहले ही दिन से गांव, गरीब, किसान, महिलाओं, युवाओं को केंद्र मे रखकर काम किया है। इसका नतीजा है कि आज समाज का हर जरूरतमंद विकास का बराबर का हिस्सेदार-भागीदार बना है'। उन्होंने कहा कि पिछले लगभग साढ़े 4 वर्षों में प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 32 करोड़ 80 लाख बैंक खाते खोले गए हैं। मंत्री ने कहा कि इन सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का सबसे अधिक लाभ समाज के पिछड़े, कमजोर तबकों, जरूरतमंदों,अल्पसंख्यकों को हुआ है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...