कश्मीर में सुरक्षा बलों को मिली बड़ी कामयाबी, 24 घंटे में 7 आतंकी को किया ढेर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 22, 2019   20:53
कश्मीर में सुरक्षा बलों को मिली बड़ी कामयाबी, 24 घंटे में 7 आतंकी को किया ढेर

गुरुवार को बांदीपोरा के हाजिन के मीर मोहल्ला में आतंकवादियों के होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान चलाया।

जम्मू। कश्मीर में बृहस्पतिवार से चार जगहों पर आतंकियों के साथ जारी मुठभेड़ में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी मिली है। कल से अब तक सेना ने घाटी में सात आतंकियों को ढेर कर दिया है। मारे गए आतंकियों में जैश का एक कमांडर भी शामिल है। जानकारी के अनुसार सुरक्षा बलों ने आज बांडीपोरा के हाजिन में दो आतंकियों को मार गिराया है। एक आतंकी का शव बरामद कर लिया गया है। दरअसल, गुरुवार को बांदीपोरा के हाजिन के मीर मोहल्ला में आतंकवादियों के होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान चलाया। अभियान के दौरान आतंकी छिपने के लिए एक घर में घुस गए थे। इतना जरूर था कि आतंकियों ने बंधक बनाए गए एक 12 साल के युवक को मार डाला था।

हाजिन में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों से बचने के लिए आतंकियों ने 12 वर्षीय किशोर को बंधक बनाया था। पुलिस ने कहा है कि, ‘मारे गए दो आतंकियों में से एक जैश का कमांडर है।’ शोपियां जिले के इमाम साहिब क्षेत्र में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया है। इसके साथ ही सोपोर के वारपोरा इलाके में एक अन्य एनकाउंटर में दो आतंकवादी मारे गए है। यह मुठभेड़ गुरुवार वाले स्थान पर ही हुई, जिसमें दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे। पुलिस ने कहा है कि बांडीपोरा में मुठभेड़ ख़त्म हो गई है, किन्तु 3 अन्य जगहों पर मुठभेड़ अब भी जारी है।

इसे भी पढ़ें: MEA ने कहा, ब्रिटेन से नीरव मोदी के शीघ्र प्रत्यर्पण को लेकर काम कर रहा है भारत

एक पुलिस अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर बताया है कि एक आम नागरिक को गुरुवार शाम को सुरक्षित बचा लिया गया था, किन्तु एक अन्य बंधक (नाबालिग बच्चे) की इस दौरान मौत हो गई है। एक सैन्य अधिकारी ने बताया है कि दक्षिण कश्मीर में शोपियां के इमाम साहिब इलाके में आतंकवादियों की उपस्थिति की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को चारों ओर से घेर लिया है और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया। आतंकियों ने बंधक बनाए 12 साल के मासूम आतिफ मीर की हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि मासूम के मां-बाप आतंकियों से उसे छोड़ देने की गुहार लगाते रहे। पर, आतंकियों का दिल नहीं पसीजा। आतंकियों ने मासूम को मौत के घाट उतार दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।