बिहार में संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुये CM नीतीश ने अधिक क्वारंटाइन सेंटर बनाने का निर्देश दिया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2020   10:03
बिहार में संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुये CM नीतीश ने अधिक क्वारंटाइन सेंटर बनाने का निर्देश दिया

कोविड-19 की अद्यतन स्थिति के संबंध में स्वास्थ्य विभाग के साथ उच्चस्तरीय बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा किऐसे सरकारी भवन जो कार्यरत नहीं हैं वहां पृथक-वास केंद्र बनाये जा सकते हैं।

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुये कुछ सरकारी भवनों के साथ साथ निजी व्यवसायिक भवनों एवं होटलों में भी पृथक-वास केन्द्र बनाये जाने के बुधवार को निर्देश दिए। इसमें ऐसे सरकारी भवनों को पृथक-वास केन्द्र बनाने का निर्देश दिया गया है जो कार्यरत नहीं हैं। कोविड-19 की अद्यतन स्थिति के संबंध में स्वास्थ्य विभाग के साथ उच्चस्तरीय बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा किऐसे सरकारी भवन जो कार्यरत नहीं हैं वहां पृथक-वास केंद्र बनाये जा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: गोपालगंज ट्रिपल मर्डर केस को लेकर राज्यपाल फागु चौहान से मिले तेजस्वी, CBI जांच की मांग की

इसके अलावा निजी व्यवसायिक भवनों एवं होटलों में भी ऐसे केन्द्र बनाये जा सकते हैं। नीतीश ने कहा कि संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुये आवश्यक दवाओं, उपकरणों आदि की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता के लिये अग्रिम तैयारी रखें। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र सेक्टर में भी कोरोना संक्रमण की जांच की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु समुचित कार्रवाई करना चाहिये। उन्होंने कहा कि भविष्य की चुनौतियों को देखते हुये राज्य के स्वास्थ्य आधारभूत ढांचे को और मजबूत किया जाय तथा इसका विस्तार भी किया जाय। भविष्य में कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका को देखते हुये सभी तैयारियां पूर्व में ही कर लें। उन्होंने कहा कि अगर सभी तैयारियां पहले से रहेंगी तो हम कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में सफल होंगे। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया बाहर से आ रहे लोगों की अधिक से अधिक संख्या में जांच करायी जाये।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...