अदालत का ‘अपमान’ करने वाले वकीलों के खिलाफ अवमानना कार्रवाई की मांग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 20, 2019   11:58
अदालत का ‘अपमान’ करने वाले वकीलों के खिलाफ अवमानना कार्रवाई की मांग

कई वरिष्ठ अधिवक्ताओं, बार संघों के अध्यक्षों और केंद्र सरकार के वकीलों ने मुख्य न्यायाधीश डी.एन. पटेल और न्यायमूर्ति सी. हरिशंकर की पीठ से कहा कि ‘न्यायपालिका का अपमान’ करने वालों के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई करने की जरूरत है।

नयी दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय से कई अधिवक्ताओं ने शुक्रवार को मांग की कि उन वकीलों के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई की जाए जिन्होंने जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में हिंसा से जुड़ी विभिन्न जनहित याचिकाओं की सुनवाई के दौरान न्यायाधीशों के लिए कथित तौर पर अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था।

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल ने मानहानि मामले में जारी समन रद्द करने की मांग पर कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

कई वरिष्ठ अधिवक्ताओं, बार संघों के अध्यक्षों और केंद्र सरकार के वकीलों ने मुख्य न्यायाधीश डी.एन. पटेल और न्यायमूर्ति सी. हरिशंकर की पीठ से कहा कि ‘न्यायपालिका का अपमान’ करने वालों के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई करने की जरूरत है।

इसे भी पढ़ें: धन शोधन मामले में रतुल पुरी की जमानत रद्द करने पर कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला

इस पर पीठ ने कहा कि वह इस मामले को संबद्ध समितियों में से एक के पास भेजेगी, इस पर वह समिति विचार करेगी। जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा से संबंधित याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान बृहस्पतिवार को जब पीठ ने छात्रों को गिरफ्तारी से अंतरिम संरक्षण देने से इनकार किया तो कुछ वकीलों ने पीठ के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।