प्रदेश के चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों ने खोला सरकार के खिलाफ मोर्चा , अपनी मांगों को लेकर कर रहे है आंदोलन

प्रदेश के चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों ने खोला सरकार के खिलाफ मोर्चा , अपनी मांगों को लेकर कर रहे है आंदोलन

प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार से मिलने उनके बंगले जा रहे चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। जिसके बाद पुलिस उन्हें नीलम पार्क ले गई।

भोपाल। मध्य प्रदेश में पिछले 3 साल से ज्वाइनिंग की राह देख रहे चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों ने अब प्रदेश की बीजेपी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बताया जा रहा है कि अपनी मांगों को लेकर अभ्यर्थी धरने पर बैठ गए हैं और मांगे पूरी नहीं होने तक आंदोलन की चेतावनी दी है।

इसे भी पढ़ें:प्रदेश के आबकारी मंत्री के क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से 3 लोगों की मौत , कांग्रेस ने की उच्च स्तरीय जांच की मांग 

आपको बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार से मिलने उनके बंगले जा रहे चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। जिसके बाद पुलिस उन्हें नीलम पार्क ले गई। जानकारी मिली है कि वे वहां धरने पर बैठ गए हैं। साथ ही आंदोलनाकारियों ने मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी है।

इसे भी पढ़ें:MP में होने वाले उपचुनावों से पहले बीजेपी ने फूंका चुनावी बिगुल, मंत्रियों को दी क्षेत्रों की ज़िम्मेदारियां 

वहीं प्रदेश भर से चयनित शिक्षक अभ्यर्थी बड़ी संख्या में भोपाल पहुंचे थे। चयनित शिक्षक अभ्यर्थी डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन के बाद अपनी ज्वाइनिंग डेट जारी करने की मांग एक लंबे समय से कर रहे है। प्रदेश में तकरीबन 25 हजार चयनित शिक्षक अभ्यर्थी हैं जो लगभग 3 साल से सरकार से अपनी मांगों को लेकर भटक रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।