सिंधिया की सलाह से ही तय होंगे सात सीटों पर उम्मीदवार

By अभिनय आकाश | Publish Date: Apr 1 2019 2:29PM
सिंधिया की सलाह से ही तय होंगे सात सीटों पर उम्मीदवार
Image Source: Google

मध्य प्रदेश को लेकर प्रदेश कांग्रेस ने “विन 29” का लक्ष्य रखा है। इसी के चलते उम्मीदवारों के चयन में पार्टी पूरी तरह से सावधानी बरत रही है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत सुनिश्चित करने में अहम भूमिका निभाने वाले युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की भूमिका प्रदेश की सात लोकसभा सीटों में प्रत्याशियों के चयन को लेकर बेहद अहम मानी जा रही है। प्रदेश की सात लोकसभा सीटें गुना, ग्वालियर, इंदौर, विदिशा, धार, भिंड और मुरैना में उम्मीदवारों को लेकर अभी मंथन जारी है। बता दें कि पार्टी ने राज्य की 9 लोकसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है जबकि शेष 20 सीटों को लेकर प्रत्याशियों का एलान किया जाना बाकी है। 

भाजपा को जिताए
मध्य प्रदेश को लेकर प्रदेश कांग्रेस ने “विन 29” का लक्ष्य रखा है। इसी के चलते उम्मीदवारों के चयन में पार्टी पूरी तरह से सावधानी बरत रही है। ग्वालियर-चंबल अंचल में हालिया विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 34 में से 26 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इसलिए भी पार्टी इस क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली लोकसभा सीट जीतने के लिए पूरी तरह से आश्वस्त है। 
 
पिता की विरासत को बढ़ाया आगे
साल 2002 से राजनीतिक मैदान में उतरे ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश के प्रतिष्ठित सिंधिया राजघराने से संबंध रखते हैं। उनके पिता तथा उनकी दादी भी राजनीति में रह चुकी हैं। 2004 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने उसी सीट से दूसरी बार जीत हासिल की। ज्योतिरादित्य संप्रग की दोनों सरकारों में केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं। दो बार सांसद रह चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया के इंदौर और विदिशा की सीटों पर भी दावेदारी को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। इसके पीछे हालिया विस चुनावा में गुना में कांग्रेस का कमजोर प्रर्दशन एक बड़ी वजह माना जा रहा है। हालांकि सिंधिया की सीट बदले जाने को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि उनका अलग मामला है, क्योंकि वह मौजूदा सांसद हैं।
प्रियदर्शनी की दावेदारी को लेकर असमंजस
ज्योतिरादित्य सिंधिया की पत्नी और दुनिया की पचास सबसे खूबसूरत महिलाओं की सूची में जगह बना चुकी प्रियदर्शनी राजे को गुना-शिवपुरी सीट से चुनाव लड़ाए जाने की भी चर्चा तेज है। बता दें कि ग्वालियर जिला कांग्रेस कमेटी ने उनकी उम्मीदवारी को लेकर प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी के पास भेज दिया है। लेकिन प्रियदर्शनी राजे गुना-शिवपुरी में पिछले दिनों सक्रियता भी चर्चा में रही है।


 
भिंड और मुरैना में भी सिंधिया निभा रहे अहम भूमिका
भिंड से भाजपा के पूर्व सांसद अशोक अर्गल भी सिधिंया से लगातार संपर्क में है। लेकिन अगर पार्टी युवा पर दाव अजमाती है तो यहां से महेंद्र जाटव का नाम प्रमुखता से उभर कर सामने आया है। इसके अलावा पूर्व विधायक कमलापत आर्य, पूर्व मंत्री महेंद्र बौद्ध का भी नाम चर्चा में है। फूल सिंह बरैया भी कांग्रेस के संपर्क में है। मुरैना लोकसभा से पिछला विधानसभा चुनाव हारे सिधिंया के करीबी माने जाने वाले रामनिवास रावत और मनोज पाल सिंह का नाम प्रमुखता से सामने आया है।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video