हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान अधनंगा बैठा था शख्स, महीला वकील ने गुस्से में पूछा-यह क्या हो रहा है? माई लॉर्ड

हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान अधनंगा बैठा था शख्स, महीला वकील ने गुस्से में पूछा-यह क्या हो रहा है? माई लॉर्ड

महीला वकील ने कोर्ट को बताया कि, शख्स बिना बनियान के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सुनवाई में शामिल हुआ जो कि पूरे कोर्ट रूम में दिखाई दे रहा था। वकील ने इस मामले पर शख्स के खिलाफ न्यायिक संज्ञान लेने की मांग की है।

कर्नाटक हाई कोर्ट में मंगलवार को वीडियो-कॉन्फ्रेंस सुनवाई के दौरान एक शख्स अर्ध-नग्न यानि की Semi Naked बैठा हुआ था। सनवाई के दौरान महिला वकील इंदिरा जयसिंह वहीं पर बैठी हुई थीं। बता दें कि, जो शख्स अर्ध नग्न में बैठा था उसके खिलाफ एक नोटिस जारी कर दिया गया है। वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने श्रीधर भट्ट नाम के शख्य पर सख्त कार्रवाई करने का मांग भी की है। वकील ने इस मामले को लेकर एक ट्वीट भी किया है। उन्होंने लिखा है कि, आपत्ति के बावजूद एक शख्स सुनवाई के दौरान अर्ध नग्न स्क्रीन पर लगभग 20 मिनट तक दिखाई दे रहा था। यह कोर्ट की अवमानना है और इस तरह का व्यवहार उचित नहीं है। इसके खिलाफ यौन उत्पीड़न और अदालत की अवमानना ​​की शिकायत की जाएगी। कोर्ट में सुनवाई के दौरान ऐसा करना बेहद परेशान करने देना वाला है। महीला वकील ने कोर्ट को बताया कि, शख्स बिना बनियान के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सुनवाई में शामिल हुआ जो कि पूरे कोर्ट रूम में दिखाई दे रहा था। वकील ने इस मामले पर शख्स के खिलाफ  न्यायिक संज्ञान लेने की मांग की है। वकील ने आगे कहा कि, कोर्ट में मर्यादा बरतनी चहिए और एक महिला वकील होने के नाते बिना कपड़ों के शख्स को देखना बहुत ही अपमानजनक है।

अधनंगा बैठा था शख्स

महिला वकील के मुताबिक, शख्स सुनवाई में बिना कपड़ों के बैठा हुआ था। इशको लेकर महिला वकील ने बहस की और कहा कि, यह क्या हो रहा है? माई लॉर्ड। यह महिला वकील पीड़िता की ओर से पेश हुई थी और सेक्स सीडी मामले को लेकर सुनवाई की जा रही थी। वीडियो-कॉन्फ्रेंस सुनवाई के दौरान शख्स नंगा बैठा हो और कोर्ट के डेकोरम का मजाक बनाया हो। इससे पहले भी जून 2021 में ऑनलाइन सनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील व कॉन्ग्रेस के दिग्गज नेता अभिषेक मनु सिंघवी कैमरे पर बिना पैंट के बैठे मिले थे। पिछले साल राजीव धवन राजस्थान हाईकोर्ट की ऑनलाइन हियरिंग में हुक्का पीते दिखे थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...