कांग्रेस को जम्मू-कश्मीर में लगा बड़ा झटका, गुलाम नबी आजाद खेमे के नेताओं ने संयुक्त तौर पर दिया इस्तीफा

कांग्रेस को जम्मू-कश्मीर में लगा बड़ा झटका, गुलाम नबी आजाद खेमे के नेताओं ने संयुक्त तौर पर दिया इस्तीफा

माना जा रहा है कि इस्तीफा देने वाले सभी नेता नेतृत्व बदलने के फैसले से नाराज थे। इनमें चार पूर्व मंत्री और तीन विधायक शामिल हैं। इन लोगों ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी, पार्टी पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रदेश प्रभाी रजनी पाटिल को अपना इस्तीफा भेजा है।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है। आपको बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद खेमे के कई नेताओं ने नेतृत्व पर सवाल खड़ा करते हुए पार्टी को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इन लोगों का आरोप है कि कांग्रेस पुराने नेताओं की अनदेखी कर रही है। 

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर: आतंकियों के सफाए के बीच महबूबा मुफ्ती को किया गया नजरबंद, ED ने भाई को भी किया तलब 

पूर्व मंत्री और विधायकों ने दिया इस्तीफा

माना जा रहा है कि इस्तीफा देने वाले सभी नेता नेतृत्व बदलने के फैसले से नाराज थे। इनमें चार पूर्व मंत्री और तीन विधायक शामिल हैं। इन लोगों ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी, पार्टी पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रदेश प्रभाी रजनी पाटिल को अपना इस्तीफा भेजा है। 

प्रदेशाध्यक्ष पर लगे गंभीर आरोप

प्राप्त जानकारी के मुताबिक इस्तीफा देने वालों में जीएम सरूरी, जुगल किशोर शर्मा, मनोहर लाल शर्मा, विकार रसूल, गुलाम नबी मोंगा, नरेश कुमार गुप्ता, सुभाष गुप्ता, अनवर भट शामिल हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कांग्रेस के कई नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। 

इसे भी पढ़ें: LG Manoj Sinha का बड़ा ऐलान, दो साल के अंदर जम्मू-कश्मीर से पूरी तरह खत्म हो जायेगा आतंकवाद

सोनिया गांधी को लिखे अपने इस्तीफे में उन्होंने पार्टी द्वारा की गई अनदेखी की बात कही। इसके साथ ही इन नेताओं ने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि गुलाम अहमद मीर की अध्यक्षता में कांग्रेस एक विनाशकारी स्थिति की ओर बढ़ रही है। आज तक कांग्रेस के 200 से अधिक शीर्ष नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है और अन्य दलों में शामिल हो गए हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...