मधुसूदन मिस्त्री से मिले शशि थरूर, जानें कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर क्या हुई बात

Madhusudan Mistry
ANI
अंकित सिंह । Sep 21, 2022 1:46PM
मधुसूदन मिस्त्री ने यह भी कहा कि जो लोग (कांग्रेस अध्यक्ष के लिए) चुनाव लड़ना चाहते हैं, वे 10 प्रतिनिधियों के हस्ताक्षर प्राप्त कर अपना नामांकन दाखिल कर सकते हैं। चुनाव के लिए मतदान 17 अक्टूबर को और मतगणना 19 अक्टूबर को होगी।

कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव को लेकर हलचल लगातार बढ़ती जा रही है। कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की जिम्मेदारी मधुसूदन मिस्त्री को दी गई है। सबसे बड़ा सवाल यही है कि आखिर कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा? अब तक की चर्चा के मुताबिक अशोक गहलोत और शशि थरूर चुनाव लड़ सकते हैं। एक से अधिक उम्मीदवार होने की स्थिति में 17 अक्टूबर को मतदान कराए जाएंगे और 19 को नतीजे आएंगे। 24 से 30 सितंबर के बीच नामांकन दाखिल किए जा सकते हैं। इन सबके बीच आज शशि थरूर ने मधुसूदन मिस्त्री से मुलाकात की है। मुलाकात के बाद मधुसूदन मिस्त्री ने कहा कि हमने कांग्रेस के अध्यक्ष चुनाव के संबंध में उनके (शशि थरूर) सभी सवालों का जवाब दिया। हमने उन्हें चुनावी नियम, एजेंटों की संख्या और उनकी भूमिकाओं के बारे में समझाया, चुनाव के लिए फॉर्म कैसे भरें, इस पर चर्चा की। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस अध्यक्ष के साथ CM पद पर भी बने रहेंगे गहलोत! कहा- दो पद नॉमिनेटेड की बात हुई थी, ये तो ओपन इलेक्शन है

मधुसूदन मिस्त्री ने यह भी कहा कि जो लोग (कांग्रेस अध्यक्ष के लिए) चुनाव लड़ना चाहते हैं, वे 10 प्रतिनिधियों के हस्ताक्षर प्राप्त कर अपना नामांकन दाखिल कर सकते हैं। चुनाव के लिए मतदान 17 अक्टूबर को और मतगणना 19 अक्टूबर को होगी। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के बयान पर मधुसूदन मिस्त्री ने कहा कि संविधान में उल्लेख किया गया है कि कोई भी व्यक्ति राष्ट्रपति चुनाव के लिए इस शर्त पर लड़ सकता है कि वह (कांग्रेस) प्रतिनिधि हो। आज एक व्यक्ति और एक पद को लेकर सवाल पूछा गया तो गहलोत ने कहा कि दो पद नॉमिनेटेड की बात हुई थी ,ये तो ओपन इलेक्शन है यहाँ कोई भी खड़ा हो सकता है। कोई विधायक, सांसद, मंत्री, मुख्यमंत्री है। कोई भी खड़ा हो सकता  है। वो मंत्री भी रहेगा और कांग्रेस अध्यक्ष भी रहेगा। 

इसे भी पढ़ें: झारखंड प्रदेश कांग्रेस ने राहुल गांधी को पार्टी का अध्यक्ष बनाने के समर्थन में प्रस्ताव पारित किया

गहलेत ने यह भी कहा कि आज देश की जो स्थिति है उसके लिए कांग्रेस का मजबूत होना बहुत जरूरी है। कांग्रेस की मजबूती के लिए जहां मेरी आवश्यकता होगी, मैं पीछे नहीं हटूंगा। उन्होंने कहा कि मैंने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अंदर 4-5 दिन पहले प्रस्ताव रखा था कि राहुल गांधी जी को अध्यक्ष पद स्वीकार करना चाहिए। अगर वे पार्टी अध्यक्ष के रूप में दौरा करेंगे तो पार्टी की एक अलग छवि बनेगी। मैं एक बार और प्रयास करूंगा। वहीं, सचिन पायलट ने कहा है कि अधिकांश राज्यों ने कहा है कि राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष होना चाहिए। चुनाव लड़ेंगे या नहीं ये उनका फैसला है, लेकिन एक बात तय है कि 17 अक्टूबर को जब वोटिंग होगी तब पार्टी को नया अध्यक्ष मिलेगा। 

अन्य न्यूज़