जम्मू-कश्मीर में दो मुठभेड़ों में सुरक्षाबलों ने मार गिराए छह और आतंकवादी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 19, 2020   21:20
जम्मू-कश्मीर में दो मुठभेड़ों में सुरक्षाबलों ने मार गिराए छह और आतंकवादी

धिकारियों ने बताया कि शुक्रवार सुबह सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों को मस्जिद से बाहर निकालने के लिए आंसू गैस के गोले भी दागे। बाद में धार्मिक स्थल की पवित्रता बनाए रखते हुए बल ने आतंकवादियों को मार गिराया।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा और शोपियां जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच शुक्रवार को हुई मुठभेड़ में छह और आतंकवादी मारे गए। इसके साथ ही रात भर चली मुठभेड़ों में मारे गए आतंकवादियों की संख्या आठ हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को पुलवामा मुठभेड़ में दो और शोपियां मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए। उन्होंने बताया कि आतंकवादी हिज्बुल मुजाहिद्दीन और लश्कर-ए-तैयबा के सदस्य हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने बृहस्पतिवार सुबह दक्षिण कश्मीर के पम्पोर इलाके के मीज में घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था। 

इसे भी पढ़ें: कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देने के लिए घुसपैठ की ताक में हैं 300 से ज्यादा आतंकी ! DGP ने सुरक्षा बैठक की 

उन्होंने बताया कि तलाशी में जुटे सुरक्षा बलों के दल पर आतंकवादियों की गोलीबारी के बाद अभियान मुठभेड़ में बदल गया। बल ने भी उनकी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया, जिसमें बृहस्पतिवार को एक आतंकवादी मारा गया था और दो अन्य एक मस्जिद में घुस गए। अधिकारी ने बताया कि बल ने रात भर मस्जिद को घेरे रखा। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार सुबह सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों को मस्जिद से बाहर निकालने के लिए आंसू गैस के गोले भी दागे। बाद में धार्मिक स्थल की पवित्रता बनाए रखते हुए बल ने आतंकवादियों को मार गिराया। अभियान में कुल तीन आतंकवादी मारे गए। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा कि आतंकवादियों को मस्जिद से बाहर निकालने के लिए ना गोलीबारी की गई ना आईईडी का इस्तेमाल किया गया।

अधिकारी ने कहा, ‘‘संयम और अनुभव काम आए। ना गोलीबारी की गई और ना आईईडी का इस्तेमाल। केवल आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया गया। मस्जिद की पवित्रता बनाए रखी गई। मस्जिद के अंदर छुपे दोनों आतंकवादियों मारे गए हैं।’’ इस बीच, रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि शोपियां जिले के मुनांद-बंदपावा इलाके में बृहस्पतिवार से शुरू हुई एक अन्य मुठभेड़ में शुक्रवार सुबह सुरक्षा बलों ने चार और आतंकवादी मार गिराए। बल ने आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद अभियान शुरू किया था। कर्नल ने बताया कि वहां बृहस्पतिवार को एक आतंकवादी मारा गया था और शुक्रवार को चार और आतंकवादी मारे गए। यहां कुल पांच आतंकवादी मारे गए हैं। रात भर चली मुठभेड़ों में पिछले 24 घंटे में कुल आठ आतंकवादी मारे गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: J&K के पुलवामा और शोपियां मुठभेड़ों में सुरक्षाबलों ने ढेर किए दो आतंकवादी 

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि डीएनए का नमूना लेने सहित अन्य मेडिकल-कानूनी औपचारिक्ताओं को पूरा करने के लिए शवों को बारामुल्ला भेजा गया है, अंत में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। प्रवक्ता ने कहा कि यदि उनके कोई परिजन हैं तो वे शवों की पहचान करने और अंतिम संस्कार में भाग लेने आ सकते हैं। प्रवक्ता ने बताया, ‘‘दोनों मुठभेड़ स्थलों से हथियार सहित अन्य आपत्तिजनक सामग्री मिली है। संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है।’’ जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि आतंकवादी हिज्बुल मुजाहिद्दीन और लश्कर-ए-तैयबा के सदस्य थे। सेना और सीआरपीएफ के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘दिन रात समाज के लिए खतरा बने हुए आठ लोगों का अंत हो गया है... इससे खुशी नहीं हो रही है, लेकिन यह वर्षों से अशांत इस क्षेत्र में शांति स्थापना की दिशा में एक कदम है।’’ पम्पोर के मीज में मस्जिद में छुपे आतंकवादियों को मारे गिराने के दौरान दिखायी गई सूझबूझ की भी पुलिस प्रमुख ने प्रशंसा की।

सिंह ने कहा, ‘‘फील्ड कमांडरों और जमीनी स्तर पर काम कर रहे सुरक्षा बलों के सदस्यों को इसका श्रेय जाता है कि जो तमाम उकसावे के बावजूद हमेशा संयम बरतने को तैयार रहते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं बिना किसी क्षति के इस अभियान को अच्छे से पूरा करने पर टीम को बधाई देता हूं, और इससे लोगों को मिले संतोष पर खुशी जताता हूं।’’ दक्षिण कश्मीर से आतंकवाद एक महीने में खत्म हो जाएगा, कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक के इस पुराने बयान के संबंध में सवाल करने पर अधिकारी विजय कुमार ने स्वयं कहा, ‘‘यदि आपको याद हो, मैंने कहा था कि अगले महीने... और महीना पूरा होने में कुछ दिन बाकी हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले दक्षिण को साफ कर लेते हैं। हमने उत्तर में भी काम शुरू कर दिया है और इसके बाद वहां कार्रवाई करेंगे।’’ कुमार ने कहा कि हमारे पास आतंकवादियों द्वारा दो और आईईडी विस्फोट की योजना बनाए जाने की सूचना है... इसमें एक पाकिस्तानी जैश कमांडर अदनान और कुलगाम निवासी वालीद शामिल हैं। कोई भी आईईडी विस्फोट होने से पहले हम इन दोनों को भी खत्म कर देंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...