देश में मंकीपॉक्स का छठा मामला सामने आया, दिल्ली में 35 साल का एक शख्स पाया गया संक्रमित

monkeypox
प्रतिरूप फोटो
ANI
अंकित सिंह । Aug 01, 2022 9:07PM
बताया जा रहा है कि संक्रमित व्यक्ति का हाल ही में विदेश यात्रा का इतिहास नहीं है, यह भारत में मंकीपॉक्स का छठा मामला है। सूत्रों के मुताबिक, नाइजीरियाई व्यक्ति पिछले पांच दिनों से बुखार से जूझ रहा है और उसके शरीर पर दाने भी हैं। एलएनजेपी अस्पताल में अफ्रीकी मूल के दो और संदिग्ध मरीजों को भी भर्ती कराया गया है।

कोरोना महामारी के बाद अब मंकीपॉक्स का भी खतरा मंडराने लगा है। दुनिया के कई देशों में मंकीपॉक्स ने अपने पैर पसार लिए हैं। भारत में भी छठा मामला पाया गया है। दिल्ली में 35 वर्ष का एक शख्स मंकीपॉक्स से संक्रमित पाया गया है। जानकारी के मुताबिक यह शख्स नाइजीरिया का है। लेकिन वह फिलहाल दिल्ली में रहता है। उसने अभी कोई विदेश यात्रा नहीं की थी। आपको बता दें कि दिल्ली में मंकीपॉक्स का यह दूसरा मामला है। अब तक जो देश में से पांच मंकीपॉक्स के मरीज थे। उनमें से एक की मृत्यु हो गई है। जानकारी के मुताबिक दिल्ली में रहने वाला एक 35 वर्षीय नाइजीरियाई व्यक्ति का मंकीपॉक्स टेस्ट पॉजिटिव आया है। 

इसे भी पढ़ें: भारत में बढ़ा मंकीपॉक्स का खतरा, केरल में 22 वर्षीय संक्रमित युवक की मौत

बताया जा रहा है कि संक्रमित व्यक्ति का हाल ही में विदेश यात्रा का इतिहास नहीं है, यह भारत में मंकीपॉक्स का छठा मामला है। सूत्रों के मुताबिक, नाइजीरियाई व्यक्ति पिछले पांच दिनों से बुखार से जूझ रहा है और उसके शरीर पर दाने भी हैं। एलएनजेपी अस्पताल में अफ्रीकी मूल के दो और संदिग्ध मरीजों को भी भर्ती कराया गया है। वही राजस्थान में भी आज एक मंकीपॉक्स का संदिग्ध मामला सामने आया है। 20 साल का यह मरीज राजस्थान के किशनगढ़ का है जिसे जयपुर के राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस में भर्ती कराया गया है। उसके सैंपल को फिलहाल पुणे भेजा जा चुका है। आपको बता दें कि देश में 22 वर्षीय मंकीपॉक्स संक्रमित एक मरीज की मौत हो गई है। वह यूएई से लौटा था।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा में मंकीपॉक्स के संदिग्ध मरीज माने जा रहे भाई-बहन में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई

कार्यबल गठित

देश में मंकीपॉक्स के मामलों पर नजर रखने और संक्रमण की रोकथाम के लिए उठाए जाने वाले कदमों के संबंध में निर्णय लेने के वास्ते एक कार्यबल का गठन किया गया है। यह कार्यबल देश में संक्रमण का पता लगाने के लिए जांच केंद्रों के विस्तार को लेकर सरकार का मार्गदर्शन करेगा और बीमारी की रोकथाम के लिए टीकाकरण संबंधी पहलुओं पर नजर रखेगा। कार्यबल के गठन का निर्णय देश में चल रही जनस्वास्थ्य संबंधी तैयारियों की समीक्षा के लिए 26 जुलाई को आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया था। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी के पॉल इस कार्यबल की अगुवाई करेंगे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने हाल में मंकीपॉक्स को वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है। वैश्विक स्तर पर, 75 देशों में मंकीपॉक्स के 16,000 से अधिक मामले पाए गए हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़