मोहाली ब्लास्ट मामले में हुईं गिरफ्तारियां, भगवंत मान बोले- माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने वालों को नहीं बख्शेंगे

मोहाली ब्लास्ट मामले में हुईं गिरफ्तारियां, भगवंत मान बोले- माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने वालों को नहीं बख्शेंगे
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि लगातार काफी लंबे समय से पंजाब का माहौल खराब करने की कोशिश होती रही हैं। परन्तु पंजाब का भाईचारा इतना मज़बूत है कि उनकी कोशिशों के बावजूद वे अपने इरादों में सफल नहीं हो पाते हैं। उन्होंने कहा कि इस संबंध में कुछ गिरफ्तारियां हुई हैं।

चंडीगढ़। पंजाब के मोहाली स्थित इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर में हुए ब्लास्ट के संबंध में मुख्यमंत्री भगवंत मान का बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने कहा कि पंजाब का माहौल खराब करने की कोशिश करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने बताया कि इस संबंध में उन्होंने डीजीपी और इंटेलिजेंस के अधिकारियों के साथ बैठक की है। 

इसे भी पढ़ें: मोहाली में इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमला, नहीं है कोई CCTV, टेरर एंगल से जांच कर रही पंजाब पुलिस 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि लगातार काफी लंबे समय से पंजाब का माहौल खराब करने की कोशिश होती रही हैं। परन्तु पंजाब का भाईचारा इतना मज़बूत है कि उनकी कोशिशों के बावजूद वे अपने इरादों में सफल नहीं हो पाते हैं। कल रात मोहाली में जो घटना हुई है, इस संबंध में मैंने डीजीपी साहब और इंटेलिजेंस के अधिकारियों के साथ बैठक ली है।

उन्होंने कहा कि मोहाली ब्लास्ट के संबंध में कुछ गिरफ्तारियां हुई हैं। कुछ और हो जाएंगी। मामले की जड़ तक पहुंचेंगे। जिसने भी पंजाब का माहौल खराब करने की कोशिश की है, वो बख़्शा नहीं जाएगा। सख़्त कार्रवाई की जाएगी, सख़्त से सख़्त सजा मिलेगी। आज शाम तक काफी कुछ स्पष्ट हो जाएगा। पुलिस और इंटेलिजेंस के अधिकारी मामले की जांच में लगे हैं। 

इसे भी पढ़ें: बग्गा मामले में पंजाब पुलिस ने की थी चूक, इसी वजह से दिल्ली पुलिस भारी पड़ गई 

गौरतलब है कि मोहाली स्थित पुलिस के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर सोमवार की शाम 7 बजकर 45 मिनट में रॉकेट चलित ग्रेनेड से हमला हुआ। इस हमले की वजह से इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए। हालांकि किसी नुकसान की कोई सूचना नहीं मिली है। वरिष्ठ अधिकारी मामले की जांच में जुट गए हैं और मौके पर फॉरेंसिक टीम को भी बुलाया गया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।