कोरोना को लेकर प्रदेश सरकार असंवेदनशील- धरमलाल कौशिक

कोरोना को लेकर प्रदेश सरकार असंवेदनशील- धरमलाल कौशिक

संक्रमित लोगों की संख्या जिस लिहाज से बढ़ रहा है, उस हिसाब से कोरोना की जांच नही की जा रही है। हर दिन करीब दस हजार जांच का लक्ष्य तय है लेकिन अब भी पांच हजार सैम्पल की ही जांच किये जा रहे हैं।जिस बात को खुद ही स्वास्थ्य अमला ने भी स्वीकारा है।

रायपुर। छत्तसीगढ़ के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर कांग्रेस की भूपेश सरकार पर असंवेदनशील होने का आरोप लगाया है। उन्होनें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के संदेश पर प्रतिक्रिया देते कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों ने साबित कर दिया है कि कोरोना अब प्रदेश सरकार के नियंत्रण से बाहर है। कोरोना को लेकर प्रदेश सरकार जरा भी संवेदनशील नही है। जिसके कारण ही कोरोना पर अंकुश लगाने में नाकाम है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अपनी नाकामी को छिपने सारा दोष जनता का बता रही है।जो सही नही है। प्रदेश में केवल गलत नीतियों के चलते ही कोरोना का लगातार विस्तार हो रहा है। जिसके चलते प्रदेशवासी बेहद चिंतित है। संक्रमित लोगों की संख्या जिस लिहाज से बढ़ रहा है, उस हिसाब से कोरोना की जांच नही की जा रही है। हर दिन करीब दस हजार जांच का लक्ष्य तय है  लेकिन अब भी पांच हजार सैम्पल की ही जांच किये जा रहे हैं।जिस बात को खुद ही स्वास्थ्य अमला ने भी स्वीकारा है।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बाद अब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भी कोरोना संक्रमित

उन्होंने कहा कि कोरोना के फैलाव को लेकर पूरी तरह से प्रदेश सरकार जिम्मेदार है। कौशिक ने कहा कि प्रदेश में लॉकडाउन के बाद भी शराब की दुकानें खुली हैं। जहां सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। नेता कौशिक ने कहा कि खुद ही प्रदेश के मंत्री व पदाधिकारी नियमों को तोड़कर उत्सव मनाने में लगे हैं।तो इन सब को लेकर जनता के बीच क्या संदेश जाएगा। इस पर भी चिंता करने की जरूरत है।वही इस समय पूरे प्रदेश में लॉकडाउन कठोरता से लागू करने की जरूरत है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।