राज्य ही टीके की आपूर्ति पर से पाबंदी हटाना चाहते थे, अब शिकायत की कोई वजह नहीं: हर्षवर्धन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2021   11:16
राज्य ही टीके की आपूर्ति पर से पाबंदी हटाना चाहते थे, अब शिकायत की कोई वजह नहीं: हर्षवर्धन

ट्विटर पर जारी अपने चार पन्ने के बयान में मंत्री ने 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का एक मई से टीकाकरण करने की रणनीति का बचाव किया और उन राजनीतिक नेताओं पर हमला किया जो इस मामले को लेकर ‘वेवजह की राजनीति में शामिल हैं और मामले में गलत सूचना फैला रहे हैं।

नयी दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि लगभग सभी राज्यों के अनुरोध पर केंद्र ने कोरोना वायरस के टीकाकरण की नीति को उदार बनाया है और राज्यों, निजी अस्पतालों और उद्योगों को इसकी अनुमति दी ताकि ‘टीम इंडिया के साझा प्रयास’ से 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी भारतीय का यथाशीघ्र टीकाकरण हो सके। ट्विटर पर जारी अपने चार पन्ने के बयान में मंत्री ने 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का एक मई से टीकाकरण करने की रणनीति का बचाव किया और उन राजनीतिक नेताओं पर हमला किया जो इस मामले को लेकर ‘वेवजह की राजनीति में शामिल हैं और मामले में गलत सूचना फैला रहे हैं।

हर्षवर्धन ने कहा कि राज्यों द्वारा अब शिकायत करने की कोई वजह नहीं नजर आती क्योंकि उन्होंने ही टीके की आपूर्ति में पाबंदियों को हटाने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि नयी रणनीति राज्यों को केंद्र से मुफ्त टीके की आपूर्ति की गारंटी देती है, इसके साथ ही वे सीधे उत्पादकों से टीका खरीद सकते हैं और खुराक की संख्या के आधार पर कीमतों पर बातचीत कर सकते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।