झाबुआ में छात्रों के साथ अभद्र भाषा का उपयोग करने पर पुलिस अधीक्षक निलंबित

Shivraj Singh Chouhan
प्रतिरूप फोटो
ANI
पॉलिटेक्निक छात्रों के साथ अभद्र का उपयोग करने के मामले में मध्यप्रदेश सरकार ने झाबुआ जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अरविंद तिवारी को सोमवार को निलंबित कर दिया है।

पॉलिटेक्निक छात्रों के साथ अभद्र का उपयोग करने के मामले में मध्यप्रदेश सरकार ने झाबुआ जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अरविंद तिवारी को सोमवार को निलंबित कर दिया है। निलंबन करने से कुछ ही घंटे पहले ही सोमवार सुबह राज्य सरकार ने तिवारी का तबादला पुलिस मुख्यालय, भोपाल में सहायक पुलिस महानिरीक्षक के रूप में किया था। इस दुर्व्यवहार से जुड़े एक कथित ऑडियो के सोशल मीडिया पर प्रसारित होने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश सरकार ने उन्हें पहले पद से हटाया और बाद में निलंबित किया।

मध्यप्रदेश गृह विभाग के अवर सचिव अन्नू भलावी द्वारा जारी आदेश में कहा गया है, ‘‘18 सितंबर 2022 की रात को पुलिस अधीक्षक झाबुआ के रूप में शासकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय, झाबुआ के छात्रों के साथ दूरभाष पर वार्तालाप के दौरान अशोभनीय एवं अभद्र तथा पदीय दायित्वों के प्रतिकूल का इस्तेमाल किया गया।’’ इसमें आगे कहा गया, ‘‘पुलिस मुख्यालय द्वारा आज प्रेषित जांच प्रतिवेदन में उक्त वार्तालाप की ट्रांसक्रिप्ट प्रेषित करते हुए तिवारी के कृत्य को आपत्तिजनक एवं पदीय कर्तव्यों के अनुरूप नहीं बताया गया है।’’

आदेश के अनुसार तिवारी का कृत्य अखिल भारतीय सेवाएं (आचरण नियम) 1968 के नियम-3 में वर्णित प्रावधानों के विपरीत आचरण होने के कारण राज्य शासन द्वारा उन्हें तत्कालीन पुलिस अधीक्षक झाबुआ एवं वर्तमान में सहायक पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस मुख्यालय, भोपाल के पद से तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। इसमें कहा गया है कि निलंबन काल में तिवारी का मुख्यालय पुलिस मुख्यालय भोपाल रहेगा।

इससे पहले ‘मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश’ के ट्विटर हैंडल पर चौहान का सोमवार सुबह एक वीडियो जारी किया गया, जिसमें वह प्रदेश के अधिकारियों को यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं, ‘‘झाबुआ पुलिस अधीक्षक (अरविंद तिवारी) को आप तत्काल हटाइये। वह जिस में बात कर रहे हैं, वह बहुत ही अशोभनीय है। बच्चों (पॉलिटेक्निक छात्रों) के साथ इस में ऐसे कोई कैसे बात कर सकता है। अभी इसी क्षण तुरंत हटा दें।’’ मुख्यमंत्री ने इस घटना की विस्तृत जांच कर आज ही रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिये थे।

इसके कुछ ही मिनटों बाद मध्यप्रदेश के गृह विभाग ने आदेश जारी कर झाबुआ पुलिस अधीक्षक तिवारी का तबादला कर पुलिस मुख्यालय भोपाल में सहायक पुलिस महानिरीक्षक के रूप में कर दिया। इसकी पुष्टि प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की। वहीं, प्रसारित ऑडियो क्लिप के बारे में पूछे जाने पर तिवारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि कल रात झाबुआ पोलिटेक्निक कॉलेज के दो समूह में झगड़ा हुआ होगा, क्योंकि मुझे उन्होंने फोन लगाया। तिवारी ने कहा कि उन्होंने कहा, ‘‘तुम लोग पढ़ने आए हो या कुत्तों की तरह लड़ने आए हो, दोनों को अंदर कर देंगे।’’ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि उन्होंने उनके इन शब्दों को पकड़ लिया और इन्हें अभद्र बताया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़