पीएम मोदी से सुरेश रैना का निवेदन, वीडियो शेयर कर कहा- कश्मीरी हिंदू बहन की सुनें दुर्दशा

पीएम मोदी से सुरेश रैना का निवेदन, वीडियो शेयर कर कहा- कश्मीरी हिंदू बहन की सुनें दुर्दशा
ANI

रैना ने एक महिला का वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इनके दुर्दशा सुननी चाहिए। आपको बता दें कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर अक्सर कश्मीरी पंडितों के लिए आवाज उठाते रहते हैं। इसके साथ ही हाल में ही रिलीज हुई द कश्मीर फाइल्स का भी उन्होंने समर्थन किया था।

हाल में ही जम्मू-कश्मीर के बडगाम में कश्मीरी पंडित राहुल भट की आतंकियों ने हत्या कर दी थी। राहुल भट अपने कार्यालय में थे जब आतंकियों ने उनकी हत्या की। इसके बाद से कश्मीर में कश्मीरी पंडितों का विरोध प्रदर्शन जारी है। इन सबके बीच भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने भी कश्मीरी पंडितों का मुद्दा उठाया है। इसके साथ ही सुरेश रैना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक भावुक अपील भी की है। इसके साथ ही रैना ने एक महिला का वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इनके दुर्दशा सुननी चाहिए। आपको बता दें कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर अक्सर कश्मीरी पंडितों के लिए आवाज उठाते रहते हैं। इसके साथ ही हाल में ही रिलीज हुई द कश्मीर फाइल्स का भी उन्होंने समर्थन किया था।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi Newsroom। चार मंजिला इमारत में भीषण आग, 27 लोग जिंदा जले, अपनों को तलाशती रही आंखें

अपने ट्वीट में सुरेश रैना ने लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से निवेदन है कि मेरी कश्मीरी हिंदू बहन की दुर्दशा को सुनें। हम भारतीयों को कश्मीर में आतंकवाद के पीड़ितों के लिए एक साथ खड़ा होना होगा। उन्हें अकेला नहीं छोड़ सकते। आशा है कि वह उनकी मांगों को सुनेंगे और को सुरक्षित स्थान पर पोस्टिंग करेंगे। दरअसल, जिस वीडियो को सुरेश रैना ने किया किया है वह कश्मीरी पंडितों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन का है। इसमें एक महिला रोती बिलखती सुरक्षा की मांग कर रही है। महिला यह कहती हुई सुनाई दे रही है कि कोई भी मर्द ड्यूटी पर जाता है और शाम को उसकी लाश मिलती है। 90 के दशक में भी हमारे साथ ऐसा हुआ है। हमारे बच्चों का क्या होगा, क्या उन्हें भी हमारी लाश मिलेगी।

इसे भी पढ़ें: केंद्रीय खेल मंत्री ने नई दिल्ली और धर्मशाला में एक साथ मनाए गए योग महोत्सव का किया नेतृत्व

जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों ने घाटी में आतंकवादियों द्वारा की जा रही हत्याओं के मुद्दे पर शनिवार को भाजपा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। उल्लेखनीय है कि कश्मीरी पंडित व सरकारी कर्मचारी राहुल भट की बडगाम के चदूरा में और विशेष पुलिस अधिकारी रियाज अहमद ठोकर की पुलवामा में क्रमश: बृहस्पतिवार और शुक्रवार को आतंकवादियों ने हत्या कर दी। अधिकारियों ने बताया कि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और कांग्रेस के सदस्य क्रमश: शहीदी चौक और गांधी नगर इलाके स्थित अपने-अपने पार्टी मुख्यालयों से बाहर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन के लिए उतरे। वहीं, आम आदमी पार्टी (आप) के कार्यकर्ताओं ने प्रेस क्लब के नजदीक प्रदर्शन किया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।