सुशांत सिंह राजपूत के परिवार पर फिर टूटा गमों का पहाड़, सड़क दुर्घटना में रिश्तेदारों की मौत

सुशांत सिंह राजपूत के परिवार पर फिर टूटा गमों का पहाड़, सड़क दुर्घटना में रिश्तेदारों की मौत

बताया जा रहा है कि इस हादसे में जमुई जिले के खैरा थाना इलाके के भंडारा गांव के एक परिवार के 6 लोगों की मौत हो गई है। इन 6 लोगों में से चार लोग अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदार थे।

बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के परिवार पर एक बार फिर से गमों का पहाड़ टूट गिरा है। परिवार के सदस्यों की सड़क दुर्घटना में दुखद मौत की खबर है। हादसा बिहार के लखीसराय जिले में हुआ है। बताया जा रहा है कि इस हादसे में जमुई जिले के खैरा थाना इलाके के भंडारा गांव के एक परिवार के 6 लोगों की मौत हो गई है। इन 6 लोगों में से चार लोग अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदार थे। जानकारी के मुताबिक सुशांत राजपूत के बहनोई और हरियाणा कैडर के आईपीएस अधिकारी ओमप्रकाश सिंह के चार रिश्तेदार थे। 

इसे भी पढ़ें: शराबबंदी पर कुछ लोग मेरे खिलाफ, मैं हमेशा शराब के विरोध में खड़ा हूं: नीतीश कुमार

ओमप्रकाश सिंह की बहन का अंतिम संस्कार कर उनके बहनोई अपने बच्चों के साथ पटना से अपने घर लौट रहे थे। सुमो विक्टा में 10 लोग सवार थे। हादसे में 6 लोगों की मौत हो गई है जबकि चार गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घर लौटते समय सुमो विक्टा अनियंत्रित होकर एक ट्रक से टकरा गई जिसके बाद यह हादसा हुआ। लखीसराय के पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने बताया कि मृतकों में एक ही परिवार के लालजीत सिंह (40), अमित शेखर (30), रामचंद्र सिंह (38), बीबी देबी (32) और अनीता देवी (31) तथा उनकी गाड़ी का चालक प्रीतम कुमार (27) शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's NewsRoom । कंगना के आजादी वाले बयान पर भड़के नीतीश, राहुल पर भी कसा तंज

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस हादसे में जख्मी हुए चार लोगों में से दो की गंभीर स्थिति देखते हुए उन्हें पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया है जबकि दो अन्य का लखीसराय सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। एसपी कुमार ने बताया कि कार में सवार उक्त सभी लोग पटना से जमुई जिले के खैरा थाना अंतर्गत अपने गांव भंडरा जा रहे थे। ये लोग लालजी सिंह की पत्नी गीता देवी के इलाज के लिए पटना गए थे। इलाज के दौरान गीता देवी की मृत्यु हो जाने पर उनका अंतिम संस्कार कराने के बाद अपने गांव लौट रहे थे तभी वे इस हादसे का शिकार हो गए।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।