आदित्य से मुलाकात पर सुशील मोदी का तंज, विपक्षी एकता का जो चूल्हा नीतीश ने जलाया था, उस पर कोई खिचड़ी नहीं पकी

Sushil Modi
ANI
Ankit Singh । Nov 23, 2022 7:11PM
मोदी ने यह भी दावा किया कि आदित्य ठाकरे मुंबई महानगर पालिका के चुनाव में शिवसेना के लिए बिहार के लोगों का वोट सुनिश्चित करने आए हैं, लेकिन इसका कोई लाभ नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि बाला साहब ठाकरे के आदर्शों पर चलने वाली वास्तविक शिवसेना ( शिंदे-गुट) भाजपा के साथ सरकार चला रही है और जनता उसके साथ है।

शिवसेना उद्धव ठाकरे गुट के नेता आदित्य ठाकरे आज बिहार के दौरे पर थे। बिहार में उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मुलाकात की है। इसके बाद अब भाजपा नीतीश कुमार पर हमलावर हो गई हैं। भाजपा ने साफ तौर पर तंज कसते हुए कहा है कि उद्धव ठाकरे की शिवसेना के लिए नीतीश कुमार किस मुँह से वोट मांगेंगे। भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जिस शिवसेना (उद्धव गुट) ने मुम्बई में बिहार और उत्तर भारत के लोगों का लगातार अपमान किया, उसके पक्ष में वोट मांगने नीतीश कुमार और तेजस्वी प्रसाद यादव किस मुँह से जाएँगे? उन्होंने साफ तौर पर कहा कि मुम्बई में बसे बिहारी अपमान और प्रताड़ना नहीं भूले हैं। 

इसे भी पढ़ें: संजय राउत ने कोश्यारी को बताया बीजेपी का प्रचारक, कहा- महाराष्ट्र में राज्यपाल की गरिमा ख़त्म हो गई

मोदी ने यह भी दावा किया कि आदित्य ठाकरे मुंबई महानगर पालिका के चुनाव में शिवसेना के लिए बिहार के लोगों का वोट सुनिश्चित करने आए हैं, लेकिन इसका कोई लाभ नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि बाला साहब ठाकरे के आदर्शों पर चलने वाली वास्तविक शिवसेना ( शिंदे-गुट)  भाजपा के साथ सरकार चला रही है और जनता उसके साथ है। मोदी ने यह भी कहा कि उद्घव-गुट वाली शिवसेना जब वीर सावरकर का अपमान करने वाली कांग्रेस के साथ है, तब नीतीश कुमार बतायें कि वे किसके साथ खड़े होंगे? इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राहुल गांधी भूल गए कि इंदिरा गांधी ने सावरकर पर डाक टिकट जारी किया था। उन्होंने यह भी कहा कि विपक्षी एकता का जो चूल्हा नीतीश ने जलाया था, उस पर कोई खिचड़ी नहीं पकी और आग भी ठंडी पड़ गई, इसलिए वे हिमाचल और गुजरात नहीं गए।

इसे भी पढ़ें: हां, मैंने बदला लिया वाले फडणवीस के बयान पर बोले संजय राउत, महाराष्ट्र में राजनीति बदले की भावना से नहीं होती

भाजपा के राज्यसभा सांसद ने कहा कि नीतीश कुमार गुजरात के पाटीदार समाज पर अपने प्रभाव का दावा करते हैं, जबकि यह समाज पूरी तरह भाजपा के साथ है। वे  गुजरात जाने की हिम्मत नहीं कर पाए। उन्होंने कहा कि आदित्य ठाकरे और तेजस्वी यादव का मिलना दो वंशवादी दलों के राजकुमारों की पिकनिक पार्टी से ज्यादा कुछ नहीं है। वहीं, आदित्य ठाकरे ने मुलाकात के बाद कहा कि आज अलग-अलग विषयों पर चर्चा हुई है। देश में जो भी युवा महंगाई, रोजगार और संविधान के लिए काम करना चाहता हैं अगर वे आपस में बातचीत करते रहें तो देश में कुछ अच्छा कर सकेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अभी लोकतंत्र और संविधान को बचाने की चुनौती हमारे सामने है और इसे बचाने के लिए हमसे जो बनेगा वो हम करेंगे। 

अन्य न्यूज़