देशभर में स्वाइन फ्लू से 312 लोगों ने गंवाई अपनी जान, 9000 से ज्यादा पीड़ित

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 11 2019 8:21PM
देशभर में स्वाइन फ्लू से 312 लोगों ने गंवाई अपनी जान, 9000 से ज्यादा पीड़ित

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, अब तक एच1एन1 संक्रमण से 9,000 से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। इस फेहरिस्त में राजस्थान शीर्ष पर है जहां स्वाइन फ्लू के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं।

नयी दिल्ली। देश में स्वाइन फ्लू का प्रकोप कम नहीं हो रहा है। इस बीमारी ने पिछले हफ्ते ही 86 लोगों की जान ले ली। इसी के साथ देशभर में एच1एन1 संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 312 हो गई है। इसके अलावा नौ हजार से ज्यादा लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, अब तक एच1एन1 संक्रमण से 9,000 से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। इस फेहरिस्त में राजस्थान शीर्ष पर है जहां स्वाइन फ्लू के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। आंकड़ें बताते हैं कि रविवार तक समूचे देश में 9,367 लोगों को स्वाइन फ्लू हुआ है। राजस्थान में इस संक्रमण से 107 लोगों की मौत हुई है और 2,941 मामले सामने आए हैं। वहीं गुजरात में एच1एन1 संक्रमण ने 55 लोगों की जान ली है और 1,431 लोग संक्रमित हुए हैं।

इसे भी पढ़ें: पंजाब और हरियाणा में स्वाइन फ्लू का कहर, इस साल अब तक 23 की मौत


पंजाब में इस बीमारी से 30 लोगों की मृत्यु हुई है और राज्य में संक्रमण से 335 लोग पीड़ित हें। मध्य प्रदेश में स्वाइन फ्लू के 98 मामले हैं और इसने 22 लोगों की जान ली है। स्वाइन फ्लू ने महाराष्ट्र में 17 लोगों की जान ली है जबकि 204 लोग प्रभावित हैं। दिल्ली में एन1एच1 संक्रमण से अब तक सात लोगों की मौत हुई और राष्ट्रीय राजधानी में 1,669 मामले सामने आए हैं। हरियाणा में भी इस बीमारी ने सात लोगों की जान ली है और 640 लोग इससे संक्रमित हैं। तेलंगाना में पांच लोगों की मौत हुई है और 424 लोगों को यह बीमारी है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में स्वाइन फ्लू के 1000 से अधिक मामले, एक की मौत

स्वाइन फ्लू के मामलों में इजाफे के साथ, स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य सरकारों से बीमारी को जल्दी पकड़ने के लिए अपनी निगरानी को बढ़ाने और गंभीर मामलों से निपटने के लिए अस्पतालों में बेड आरक्षित रखने को कहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक बयान के मुताबिक, राज्यों को लोगों में बीमारी के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए जिला क्लेक्टरों को शामिल करने की सलाह दी गई है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story