नफरती भाषण मामला: हैदराबाद की मक्का मस्जिद में जुमे की नमाज शांतिपूर्ण ढंग से हुई संपन्न

Mecca Masjid
ANI Image
पुलिस आयुक्त ने संवाददाताओं से कहा कि मैं यह कहना चाहता हूं कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो पोस्ट कर रहे हैं। वे शांति व्यवस्था में भारी खलल पैदा कर रहे हैं। मैं उन लोगों को सावधान करना चाहता हूं कि वे ऐसी चीजों में शामिल न हों।

हैदराबाद। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में शुक्रवार को चारमीनार के आसपास के इलाकों में कोई विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ और ऐतिहासिक मक्का मस्जिद में जुमे की नमाज शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई। पुलिस ने यह जानकारी दी। हैदराबाद के पुलिस आयुक्त सी वी आनंद ने कहा कि वह सभी लोगों के शुक्रगुजार हैं क्योंकि शहर में शांति बनी रही और पुलिस ने जो भी कार्रवाई की उसे लोगों ने समझा।

इसे भी पढ़ें: राजा सिंह के खिलाफ 'सिर तन से जुदा' नारे लगवाने वाले सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर को हैदराबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस आयुक्त ने संवाददाताओं से कहा, “मैं यह कहना चाहता हूं कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो पोस्ट कर रहे हैं। वे शांति व्यवस्था में भारी खलल पैदा कर रहे हैं।मैं उन लोगों को सावधान करना चाहता हूं कि वे ऐसी चीजों में शामिल न हों। हम पहले ही ऐसे लोगों की पहचान कर चुके हैं और हम उनके खिलाफ मामला दर्ज करने जा रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि हालांकि कुछ हिस्सों में दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों के बंद होने के समय पर कोई आधिकारिक निर्देश जारी नहीं किया गया है। गृह विभाग मौजूदा स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही इस संबंध में निर्णय लेगा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से निलंबित विधायक टी राजा सिंह के खिलाफ हैदराबाद के कुछ हिस्सों में बीते कुछ दिनों से विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। टी राजा सिंह ने इस्लाम और पैगंबर मोहम्मद के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसको लेकर काफी विवाद हो रहा है।

टी राजा सिंह को हैदराबाद पुलिस ने बृहस्पतिवार को एहतियातन हिरासत अधिनियम के तहत फिर से गिरफ्तार कर लिया था। राजा सिंह के बयान को लेकर हैदराबाद में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। टी राजा सिंह को इस्लाम और पैगंबर मोहम्मद के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने के लिए 23 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि, उस दिन बाद में एक अदालत ने राजा सिंह को रिहा कर दिया था, क्योंकि पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करते समय उच्चतम न्यायालय के दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया था। राजा सिंह की गिरफ्तारी की मांग करते हुए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने बृहस्पतिवार को कहा था कि हैदराबाद के कुछ हिस्सों में हुआ प्रदर्शन सीधे तौर पर भाजपा नेता के कथित नफरत फैलाने वाले भाषण का नतीजा है।

इसे भी पढ़ें: पैगंबर के खिलाफ टिप्पणी पर विवाद के बाद हैदराबाद में अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात, कई संस्थानों को भी बंद करने का आदेश 

हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने ट्वीट में कहा, “ यह स्थिति राजा सिंह के नफरत फैलाने वाले भाषण का सीधा नतीजा है। उन्हें जल्द से जल्द जेल भेजा जाना चाहिए। मैं फिर से शांति बनाए रखने की अपनी अपील दोहराता हूं। हैदराबाद हमारा घर है, इसे सांप्रदायिकता का शिकार नहीं बनने दिया जाना चाहिए।” ट्विटर पर ओवैसी ने कहा कि पुलिस ने बुधवार को शाह अली बांदा इलाके से 90 लोगों को हिरासत में लिया था और उनके दखल के बाद हिरासत में लिए गए लोगों को रिहा किया गया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़